उगते हुए सूर्य को अर्ध्य देकर सूर्य उपासना का छठ पूजनोत्सव हर्षोल्लास से सम्पन्न

सूर्य उपासना का सबसे बड़ा त्यौहार एवं भोजपुरी, मगही एवं मैथली समाज का महापर्व छठ बिहार सांस्कृतिक परिषद द्वारा सरस्वती मंदिर प्रांगण, ई सेक्टर बरखेड़ा में आयोजित किया गया। परिषद के महासचिव सतेन्द्र कुमार ने कहा कि 25 -30 हजार से अधिक छठव्रती श्रद्धालु उगते हुए सूर्य को अर्ध्य अर्पित कर पारण किया। प्रांगण में बने तीनो सूर्य कुंडो में भरे नर्मदा जल में कमर तक पानी मे प्रवेश कर सूर्य की उपासना एवं छठ मइया की आराधना किया। 

रविवार प्रातः 04 बजे से ही उगते हुए सूर्य को अर्ध्य देकर यह महापर्व छठ मइया के मधुरिम गीत “उग हो सुरुज देवा, भइल अरगा के वेल”
एवं केलवा के पात तर उगहो सुरुज देवा झांके झुकी…..
ये करेलु छठ वरतिया झांके झुके… धूम – धाम एवं हर्षो उल्लास के साथ सम्पन हुआ।
 इस महापर्व के सफल एवं पवित्रता के साथ आयोजन के लिए बिहार सांस्कृतिक परिषद् द्वारा हर वर्ष की भांति विशेष व्यवस्था की गयी. 
इस छठ घाट स्वच्छता अभियान को जारी रखते हुये पवित्रता एवं स्वछता के महापर्व छठ पूजनोत्सव की व्यापक तैयारी की गयी जिसमे परिषद् के सदस्यों एवं छठवर्ती श्रद्धालुगण ने भेल एवं नगर निगम की सहायता से पूरे घाट एवं कुंड की सफाई की. माननीय महापौर, विधायक एवं नगर निगम के उच्च अधिकारीयों के विशेष निर्देश पर नगर निगम द्वारा अस्थायी स्नानघर, महिला छठव्रती के लिए चेंजिंग रूम, फव्वारे, मंच एवं चलित टॉयलेट की विशेष व्यवस्था की गयी तथा छठवर्ती श्रद्धालुओ के लिए अर्ध्य देने, बैठने की समुचित एवं उत्तम व्यवस्था, नियोजित पार्किंग की व्यवस्था परिषद के कार्यकर्ताओं द्वारा की गयी.
महापर्व छठ पूजनोत्सव को भक्तिमय एवं धार्मिकता के साथ आध्यात्मिक रूप देने के लिए सरस्वती देवी मंदिर प्रांगण मे ही 03 नवम्बर, 19 पारण को सुबह 04 बजे से से 09 बजे तक छठ मईया एवं उदयमान सूर्य देवता के मधुरिम भजनों, देवी जागरण एवं भजन गायन की मनमोहक एवं सुन्दर प्रस्तुति बिहार के प्रसिद्ध गायक भोजपुरी गायन की अन्तराष्ट्रीय फेम डॉ नीतू कुमारी नूतन, सुर संग्राम विजेता श्री रघुवीर शरण श्रीवास्तव एवं सुप्रसिद्ध भजन गायक श्री मनोज अहिरवार एवं टीम द्वारा दी गयी। यह छठ प्रसंग में पारंपरिक लोक गायन 02 नवम्बर शाम 04 बजे से प्रारंभ हुई थी। जिसे उपस्थित जन समुदाय ने सर्वाधिक पसंद किया.
इस पावन अवसर पर संस्कृति संचालनालय, मध्यप्रदेश शासन के मध्यप्रदेश भोजपुरी अकादमी द्वारा “छठ प्रसंग” के अंतर्गत छठ पारंपरिक गायन का भव्य आयोजन किया गया.  
छठ पूजा परिसर में भव्य मेले का मनमोहक आयोजन किया गया जिसके मुख्य आकर्षण बच्चों के मनोरंजन के लिए झूले, मिक्की माउस, बैलून शूटिंग एवं अन्य गेम उपलब्ध हैं. इस अवसर पर धार्मिक पुस्तकें, परिधान एवं अन्य प्रदर्शनी एवं बिहारी संस्कृति के विभिन्न प्रकार के व्यंजन जैसे लिट्ठी चोखा अदि के स्टॉल लगाए गए. कार्यक्रम के समापन अवसर पर चाय, सुप एवं प्रसाद (ठेकुआ आदि) का वितरण किया गया।
कार्यक्रम में पूर्व मंत्री एवं विधायक नरेला विश्वास सारंग, शहर के महापौर आलोक शर्मा, भोपाल सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर, क्षेत्रीय विधायक कृष्णा गौर एवं मध्य प्रदेश शासन के अनेक प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारी विशेष रूप से उपस्थित हुए।
परिषद के कार्यकर्ताओं, नगर निगम एवं भेल नगर प्रशासन के लोगो ने कठिन परिश्रम एवं लगन से प्रांगण की साफ-सफाई, लाईटिंग एवं साज–सज्जा से महापर्व छठ पूजनोत्सव को यादगार बना दिया. महापर्व छठ पूजनोत्सव के भव्य आयोजन में लगभग 25 – 30 हजार श्रद्धालु एवं भक्तगण शामिल हुए. परिषद के महासचिव सतेन्द्र कुमार ने कहा कि परिषद् द्वारा समय समय पर विभिन्न प्रकार के सांस्कृतिक एवं धार्मिक आयोजन जैसे सरस्वती पूजा, डॉ. राजेंद्र प्रसाद जयंती एवं परिषद द्वारा संचालित विधालयों के सांस्कृतिक कार्यक्रम भी बड़े पैमाने पर आयोजित किये जाते हैं.

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *