प्रदेश अध्यक्ष ने कहा- गुजरात में 84 तो मध्यप्रदेश में जीतेंगे 98 प्रतिशत सीटें

भारतीय जनता पार्टी ने प्रदेश में हुए विधानसभा चुनावों में जबर्दस्त सफलता हासिल की। गुजरात नगर निकाय के चुनावों में पार्टी ने रिकार्ड जीत दर्ज करते हुए 6 नगर निगम और 84 प्रतिशत सीटों पर कब्जा किया है। कांग्रेस महज 10 प्रतिशत सीटों पर सिमट गई है। इसे देखकर मध्यप्रदेश के कांग्रेस नेताओं को भी नगर निकाय चुनाव में सुनिश्चित हार का डर सताने लगा है और हार का ठीकरा फोड़ने के लिए वे अभी से बहाने तलाशने लगे हैं। इसीलिए वे कभी ईवीएम के खिलाफ शिकायत लेकर, तो कभी बैलेट पेपर से चुनाव कराने की मांग को लेकर चुनाव आयोग चक्कर लगा रहे हैं।

यह बात भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री विष्णुदत्त शर्मा ने बुधवार को सतना में पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए कही।

*अस्तित्वहीन हो गई है कांग्रेस*

                श्री शर्मा ने कहा कि भ्रम, छल, कपट की राजनीति करने वाले, झूठ बोलने वाले मिं. बंटाढार चुनाव आयोग जाकर ईवीएम की खराबी बता रहे हैं। कह रहे हैं कि बैलेट पेपर से चुनाव होना चाहिए। 2018 के चुनाव में दिग्विजयसिंह खुद यह मान चुके हैं कि उनके जाने से वोट कट जाते हैं। वही मि. बंटाढार प्रदेश में कांग्रेस का नेतृत्व कर रहे हैं और प्रदेश में कांग्रेस अब अस्तित्वहीन हो गई है, अप्रासांगिक हो गई है। उसके नेता सिर्फ इस कवायद में लगे हुए हैं कि झूठ बोलकर किस तरह से मीडिया में रहा जा सकता है। वास्तविकता यह है कि कांग्रेस की क्रेडिब्लिटी खत्म हो गई है, उसने जनता का विश्वास खो दिया है। 

*देश की छवि खराब करने की कोशिश कर रहे कांग्रेस और वामपंथी*

                श्री शर्मा ने कहा कि हमारी केंद्र और राज्य सरकारें लगातार गरीब कल्याण के काम कर रही हैं। हम विकास के मुद्दे पर लगातार आगे बढ़ रहे हैं और इससे मोदी जी और भारत की छवि सारी दुनिया में बन रही है। उससे घबराकर कुछ ताकतें भारत की छवि खराब करने का काम कर रही हैं। श्री शर्मा ने कहा कि हमारे प्रधानमंत्री मोदी जी ग्लोबल लीडर के तौर पर उभरे हैं और उनके नेतृत्व में भारत ने दुनिया के 24 देशों को कोरोना वेक्सीन दी है। सारी दुनिया भारत के इस प्रयास की सराहना कर रही है, लेकिन हमारे देश के ही तथाकथित वामपंथी और कांग्रेस के लोग मिलकर हमारे नेतृत्व की छवि को धूमिल करने का प्रयास कर रहे हैं।

*जबरन मुद्दा बना रहे कांग्रेसी*

                श्री शर्मा ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी दुनिया का सबसे बड़ा राजनीतिक दल है और ये कार्यकर्ताओं पर आधारित दल है। भाजपा किसी एक परिवार या नेता की पार्टी नहीं है। समय के हिसाब से इसमें परिवर्तन होते रहते हैं, लेकिन हमारे यहां उम्र का कोई क्राइटेरिया या कानून नहीं है। अब कांग्रेस का पास कोई मुद्दा नहीं है, तो कांग्रेस के लोग इसी को मुद्दा बना रहे हैं। श्री शर्मा ने कहा कि भाजपा लोग 40-50 सालों से काम कर रहे हैं। आज भी उन वरिष्ठों का मार्गदर्शन, उनका आशीर्वाद, उनका सहयोग, उनका स्नेह हमेशा भाजपा के कार्यकर्ताओं को मिलता है, क्योंकि भाजपा एक परिवार है। ये वो लोग हैं, जिन्होंने भाजपा को सींचा है। श्री शर्मा ने कहा कि समय के हिसाब किस कार्यकर्ता का उपयोग कहां पर करना है, यह पार्टी सामूहिकता के आधार पर तय करती है।

*कांग्रेस के ताबूत में अंतिम कील साबित होंगे निकाय चुनाव*

                श्री शर्मा ने कहा कि कमलनाथ ने कांग्रेस की बैठक में कहा कि भाजपा के कार्यकर्ताओं को कमजोर मत मानिए। इससे पहले विधानसभा उपचुनाव के समय कहा था कि हमारा टारगेट भाजपा का संगठन है। कमलनाथ बिल्कुल ठीक कह रहे हैं। पं. नेहरू ने भी कहा था कि मैं जनसंघ को खत्म कर दूंगा। तब डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी ने कहा था कि मैं उस विचार और मानसिकता को ही खत्म कर दूंगा जिसमें जनसंघ को खत्म करने का विचार आता है। आज कांग्रेस रूपी विचार देश में खत्म होने की कगार पर है। श्री शर्मा ने कहा कि हमारी ताकत बूथ का कार्यकर्ता है। भाजपा का कार्यकर्ता देश और मध्यप्रदेश में प्रत्येक बूथ पर मजबूती के साथ काम कर रहा है। उन्होंने कहा कि भाजपा का कार्यकर्ता जीत का संकल्प लेकर आगे बढ़ता है। श्री शर्मा ने कहा कि हमारे कार्यकर्ताओं और जनता ने कांग्रेस का जो ताबूत 2018 के विधानसभा चुनाव और उपचुनाव में तैयार किया है, हमारा कार्यकर्ता नगर निकाय चुनाव में कांग्रेस के उस ताबूत में अंतिम कील ठोंक देगा। 

*जनता तय करेगी भाजपा का घोषणा पत्र*

                श्री शर्मा ने कहा कि भाजपा ने तय किया है कि निकाय चुनाव के लिए जो घोषणा पत्र जारी किया जाएगा, वह भाजपा का घोषणा पत्र नहीं होगा, बल्कि उसे जनता तैयार करेगी। इसके लिए हम बूथ अध्यक्षों के साथ बैठक कर रहे हैं, मंडल अध्यक्षों से भी मिल रहे हैं और क्षेत्र के प्रबुद्धजनों से भी चर्चा कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि सतना के विकास के लिए किन चीजों की जरूरतें हैं, यह यहां के प्रबुद्धजन और जनता तय करेगी और इसी के आधार पर चुनाव घोषणा पत्र तैयार किया जाएगा।

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *