Category Archives: स्वास्थ

चेन्नई के शंकर नेत्रालय से मरीजों के इलाज करने आएंगे डॉ. रमन

इंदौर के एक निजी अस्पताल में मोतियाबिंद ऑपरेशन के दौरान 10 मरीजों की आंखों की रोशनी प्रभावित होने की घटना को मुख्यमंत्री कमलनाथ ने दुखद बताया है और जांच कराने के निर्देश दिए हैं। स्वास्थ्य मंत्री तुलसीराम सिलावट ने कहा कि पीड़ित मरीजों के इलाज के लिए चेन्नई के शंकर नेत्रालय से डॉ. राजू रमन को बुलाया जा रहा है। मरीजों को फिलहाल इंदौर के चोईथराम नेत्रालय में स्थानांतरित कर दिया गया है।

19 जुलाई से 10 अगस्त तक खाद्य पदार्थों के 2933 नमूने लिये

प्रदेश में मिलावटी खाद्य पदार्थ निर्माताओं एवं विक्रेताओं के विरूद्ध खाद्य एवं औषधि प्रशासन की कार्रवाई सतत जारी है। स्वास्थ्य मंत्री तुलसीराम सिलावट द्वारा इस संबंध में विभाग के अधिकारियों के साथ लगातार कार्रवाई की निगरानी की जा रही है। अभियान मेँ 19 जुलाई से 10 अगस्त  तक प्रदेश के समस्त जिलों से दूध एवं दुग्ध उत्पाद एवं अन्य खाद्य पदार्थों के 2933 नमूने लिये गये।

नगरीय निकायों में जोनल अधिकारी तम्बाकू नियंत्रण के लिये नोडल अधिकारी

सिगरेट एवं अन्य तम्बाकू उत्पाद अधिनियम- 2003 की धाराओं के प्रभावी क्रियान्वयन के लिये नगरीय निकायों में जोनल अधिकारियों को नोडल अधिकारी नामांकित किया गया है। आयुक्त नगरीय प्रशासन एवं विकास पी. नरहरि ने कहा है कि नोडल अधिकारी इस अधिनियम का पालन सुनिश्चित करेंगे।

पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर बीमार, एयर एम्बुलैंस से दिल्ली ले जाया गया

पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर की बुधवार को अचानक तबियत बिगड गई। उन्हें तुरंत भोपाल के नर्मदा अस्पताल मे भर्ती कराया गया। चिकित्सकों की सलाह पर उन्हें एयर एम्बुलेंस से मेदांता अस्पताल दिल्ली ले जाया गया।

ग्रामीण उप स्वास्थ्य केंद्रों मेें सालों बाद 2000 एएऩएम की नियुक्ति होगी

मध्यप्रदेश के ग्रामीण क्षेत्र में स्वास्थ्य सेवाओं की हालत देखकर प्रदेश सरकार ने शुक्रवार को मंत्रिपरिषद की बैठक में 2000 एएनएम के पदों को भरने का फैसला किया है। इससे ग्रामीण क्षेत्रों के उप स्वास्थ्य केंद्रों में एएनएम की नियुक्ति होगी और वहां लोगों को प्रांरंभिक इलाज मिल सकेगा।

जनता की सलाह-साझेदारी से होगा पानी बचाने काम

पानी को लेकर मध्यप्रदेश सरकार काफी संजीदा है। इसके लिए जहां पानी का अधिकार कानून बनाने की पहल करने जा रही है तो पानी बचाने के लिए जनता की सलाह व भागीदारी ली जा रही है। राज्य स्तर पर इसके लिए जल प्रकोष्ठ गठित करने की तैयारी है जिसमें सचिव स्तर के अधिकारी को महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी जाएगी। आम नागरिक “वाटर सेल” के ईमेल आई.डी watercellmp@gmail.com पर अपनी पानी बचाने से संबंधित गतिविधियों पर अपनी राय दे सकते हैं।

मुख्यमंत्री इलाज कराने पहुंचे हमीदिया अस्पताल

यूं तो नेता, अफसर अपने या अपने परिजनों के इलाज के लिए सरकारी अस्पतालों में इलाज के नाम पर बचते हैं लेकिन मुख्यमंत्री कमलनाथ के हाथ में शुक्रवार को अचानक तकलीफ हुई। वे काफिले के साथ पहुंच गए हमीदिया अस्पताल में। यहां मुख्यमंत्री का काफिला देखकर अस्पताल के चिकित्सक और अन्य स्टाफ हक्का-बक्का रह गया। ज्यादातर स्टाफ ने सोचा कि सीएम शायद निरीक्षण के लिए आए होंगे लेकिन वे सीधे चिकित्सक के पास पहुंचे। वहां उन्होंने हाथ में तकलीफ के बारे में बताया। सर्जरी की आवश्यकता बताई गई तो इसके पहले के रुटीन चेकअप किए गए।

अस्पतालों में विशेषज्ञों की सीधी भर्ती की जाए: नाथ

मुख्यमंत्री कमल नाथ ने सरकारी अस्पतालों में स्वास्थ्य सुविधाओं की सुदृढ़ बनाने के लिए विशेषज्ञों की सीधी भर्ती करने के निर्देश दिए और उन्होंने कहा कि बेहतर स्वास्थ्य लोगों का अधिकार हो इसके लिए
“राइट टू हेल्थ” की दिशा में विचार करें।

युवा सुबह गरम पानी पीकर करें दिन की शुरूआतः निधि शुक्ला

सिविल सर्विसेज क्लब में युवाओं के लिए एक ओपन ‘न्यूट्रीशन वर्कशॉप’ में डायटीशन निधि शुक्ला पांडे ने कहा कि युवाओं को सुबह की शुरुात गरम पानी से करना चाहिए। इसमें चार या छह बूंद नींबू और शहद भी डालकर पीने से दिनभरा तरोताजा रहते हैंं। पांडे ने खानी-पीने और दिनचर्या के बारे में भी कई जरूरी टिप्स दिये।

शिकायतों पर सीएम ने स्वास्थ्य मंत्री को जिला अस्पताल भेजा, चार मेडिकल स्टाफ पर कार्रवाई

पिछले कुछ दिनों सरकारी अस्पतालों की व्यवस्थाओं को लेकर मुख्यमंत्री कमलनाथ को शिकायतें की जा रही थीं और सीएम ने दाओस जाने के पहले स्वास्थ्य मंत्री तुलसीराम सिलावट को अस्पतालों का निरीक्षण के निर्देश दिए थे। सिलावट ने शुक्रवार को भोपाल के जयप्रकाश जिला अस्पताल का निरीक्षण किया तो वहां लापरवाही सामने आने पर चार मेडिकल स्टाफ के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश दिए।