19 जुलाई से 10 अगस्त तक खाद्य पदार्थों के 2933 नमूने लिये

प्रदेश में मिलावटी खाद्य पदार्थ निर्माताओं एवं विक्रेताओं के विरूद्ध खाद्य एवं औषधि प्रशासन की कार्रवाई सतत जारी है। स्वास्थ्य मंत्री तुलसीराम सिलावट द्वारा इस संबंध में विभाग के अधिकारियों के साथ लगातार कार्रवाई की निगरानी की जा रही है। अभियान मेँ 19 जुलाई से 10 अगस्त  तक प्रदेश के समस्त जिलों से दूध एवं दुग्ध उत्पाद एवं अन्य खाद्य पदार्थों के 2933 नमूने लिये गये।

खाद्य प्रशासन एवं औषधि नियंत्रक श्री रविन्द्र सिंह ने बताया कि प्रदेश के समस्त जिलों में 10 अगस्त को  खाद्य सुरक्षा अधिकारियों द्वारा मावा के 9, दूध 16, घी 10, पनीर 6, अन्य दूध उत्पाद 26 एवं खाद्य नमूनों के 63 नमूने लिये गये। इस तरह कुल 130 नमूने लिये गये। अभियान मेँ 10 अगस्त को जिला रीवा में खाद्य सुरक्षा अधिकारियों द्वारा 520 किलो मिल्क केक तथा 76 किलो कलाकंद जप्त किया गया।  इसके साथ ही 450 किलो दूषित मावे को नष्ट कराया गया।

मिलावटखोरों के खिलाफ की जा रही कार्रवाई मेँ 10 अगस्त को  जिला होशंगाबाद में 95 किलो घी और झाबुआ में 19 टीन पामोनिल तेल जप्त किया गया l मिलावटखोरों के खिलाफ अभियान के तहत 10 अगस्त को धार जिले में एक एफआईआर दर्ज की गई। अब तक प्रदेश में कुल 18 एफआईआर दर्ज की जा चुकी है।

राज्य खाद्य जाँच प्रयोगशाला द्वारा जारी की गई जॉंच रिपोर्ट की जानकारी मेँ  10 अगस्त तक कुल 272 नमूनों के जाँच रिपोर्ट राज्य खाद्य प्रयोगशाला भोपाल से जारी की गई है। इसमें से 91 नमूने अवमानक, 18 नमूने मिथ्याछाप, 4 अपद्रव्य, 3 नमूने असुरक्षित, 155 नमूने मानक एवं नमूना प्रतिबंधित स्तर के पाये गये हैं।

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *