Warning: mysqli_real_connect(): Headers and client library minor version mismatch. Headers:100311 Library:30121 in /home/khabar/domains/khabarsabki.com/public_html/wp-includes/class-wpdb.php on line 2035
नर्सिंग घोटाले से घिर रहे भाजपा नेताओं का साथ दे रहे कुछ कांग्रेस नेता, दूसरा धड़ा उठा रहा मुद्दा

नर्सिंग घोटाले से घिर रहे भाजपा नेताओं का साथ दे रहे कुछ कांग्रेस नेता, दूसरा धड़ा उठा रहा मुद्दा

नर्सिंग घोटाला मध्य प्रदेश का दूसरा व्यापम घोटाला है लेकिन इस मुद्दे पर कांग्रेस का एक धड़ा हमलावर होने के बजाय भाजपा नेताओं को अप्रत्यक्ष रूप से मदद करने में जुटा है। बावजूद घोटाले को उजागर करने वाले एनएसयूआई के युवा नेता से लेकर नेता प्रतिपक्ष उमंग सिंगार अब सरकार के असरदार नेताओं व आला अफसरों के खिलाफ एक्शन पर अड़ गए हैं। जानिये हमारी इस रिपोर्ट में भाजपा नेताओं को कौन कांग्रेस नेता का मिल रहा अप्रत्यक्ष सहयोग तो किन अधिकारियों पर कांग्रेस हमलावर है।

मध्य प्रदेश के नर्सिंग घोटाले में बड़े-बड़े शिक्षण समूह के कॉलेजों के शामिल होने तथा बिना इंफ्रास्ट्रक्चर व साधन-सुविधाओं-फैकल्टी के कॉलेजों के संचालन को सरकार में बैठे नेता-अफसरों द्वारा हरी झंडी दिए जाने का मामला अदालत में पेश एक रिपोर्ट से सामने आया। सीबीआई की जांच टीम ने जिन कॉलेजों को क्लीनचिट दी थी, उनका जमीन पर अता-पता नहीं था। सीबीआई की दिल्ली की टीम ने जब मामले में अलग से जांच की तो पहले सरकार में बैठे नेता-नौकरशाहों की सांठगांठ से अपात्र कॉलेजों को चला रहे कॉलेज संचालकों के साथ सीबीआई की जांच टीम के मिल जाने व बड़ी रकम के लेन-देन का साक्ष्य के साथ इस गोरखधंधे को पकड़ा। व्यापम घोटाले जैसा बड़ा घोटाला सामने आने के बाद भी सरकार के नेता व नौकरशाह बड़ी मछलियों की जगह निचले स्तर पर एक्शन दिखाया जा रहा है।
जिस नर्स को बनाया था रजिस्ट्रार उसे बर्खास्त किया
नर्सिंग घोटाले में बड़ी मछलियों पर एक्शन की जगह छोटी मछलियों के खिलाफ फौरी कार्रवाई शुरू हुई है जिसमें मध्य प्रदेश नर्सिंग रजिस्ट्रेशन कौंसिल की तत्कालीन रजिस्ट्रार सुनीता शिजू की सेवा बर्खास्त करने के आदेश जारी किए गए हैं। यह आरोप लगाए जा रहे हैं कि शिजू की रजिस्ट्रार पर नियुक्ति ही अवैध थी क्योंकि उन्हें रजिस्ट्रार पद की योग्यता ही नहीं थी। यह भी आरोप है कि शिजू नर्स थीं और उन्हें बिना पात्रता के रजिस्ट्रार बना दिया गया। अब जब घोटाला सामने आया है कि उन्हें एक हथियार की तरह इस्तेमाल कर अन्य आरोपियों को बचाया जा रहा है।
कांग्रेस में घोटाले से जुड़े भाजपा नेताओं के हमदर्द
विधानसभा चुनाव में जिस तरह भाजपा-कांग्रेस के कुछ नेताओं के बीच अघोषित समझौते की चर्चाएं रहती आई हैं, वैसी ही चर्चा नर्सिंग घोटाले में होने लगी हैं। नए भोपाल की एक विधानसभा सीट से कांग्रेस का टिकट चाह रहे एक नेता के भाजपा सरकार में भी स्थानीय नेता से निकट के रिश्ते बताए जा रहे हैं। कांग्रेस में होते हुए भी उनके नेताजी से ऐसे संबंध में हैं कि उनके व्यवसायिक कामकाज मिल-बांटकर हो रहे हैं। इन नेताजी के जो आका हैं, उनसे भाजपा नेता की मुलाकात भी पिछले दिनों हुई है। यही नहीं यह कांग्रेस नेता नर्सिंग घोटाले को लेकर शुक्रवार को भोपाल में हुए पार्टी के धरना प्रदर्शन में बैनर में वरिष्ठ नेताओं की तस्वीरों के साथ नजर भी आए जबकि विधानसभा चुनाव से लेकर अब तक उनकी पार्टी में सक्रियता पर सवाल उठते रहे हैं।
दूसरी ओर भाजपा को घेरने में जुटा दूसरा धड़ा
कांग्रेस की गुटीय राजनीति में उपरोक्त के आका के विरोधी माने जाने वाले नेता प्रतिपक्ष उमंग सिंगार नर्सिंग घोटाले में आक्रमक दिखाई दे रहे हैं। एक्स पर उन्होंने वीडियो बयान जारी कर घोटाले के समय तत्कालीन मंत्री रहे विश्वास सारंग से लेकर चीफ सेक्रटरी दौड़ में शामिल मोहम्मद सुलेमान, निशांत बरवड़े को घेरा है। उनका कहना है कि इतने बड़े घोटाले में छोटी मछलियों को घेरा जा रहा है, बड़ी मछलियों पर एक्शन नहीं किया जा रहा है। गौरतलब है कि आगामी जुलाई महीने में विधानसभा का मानसून सत्र है और यह मुद्दा उसमें भी गूंजने की संभावना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Khabar News | MP Breaking News | MP Khel Samachar | Latest News in Hindi Bhopal | Bhopal News In Hindi | Bhopal News Headlines | Bhopal Breaking News | Bhopal Khel Samachar | MP News Today