Category Archives: उत्तर प्रदेश

रेल अफसरों ने किया रेलवे वीआईपी गेस्ट हाउस में सामूहिक दुष्कर्म

रेलवे के दो अधिकारियों राजेश तिवारी, आलोक मालवीय ने मिलकर उत्तरप्रदेश के महोबा की एक युवती के साथ भोपाल रेलवे स्टेशन के वीआईपी गेस्ट हाउस में सामूहिक दुष्कर्म किया।

इलाहाबाद के नाहर ग्वालियर संगीत विवि नए कुलपति

राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने इलाहाबाद विश्वविद्यालय, इलाहाबाद उ.प्र. के म्यूजिक एवं परफॉर्मेिंग ऑर्ट विभाग में प्रो. साहित्य कुमार नाहर को राजा मानसिंह तोमर संगीत एवं कला विश्वविद्यालय, ग्वालियर का कुलपति नियुक्त किया है।

प्रो. अखिलेश पांडे विक्रम विवि के कुलपति नियुक्त

राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने जबलपुर के रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय बायो-साईंस विभाग के प्रो. अखिलेश कुमार पांडे को विक्रम विश्वविद्यालय, उज्जैन का कुलपति नियुक्त किया है। श्रीमती पटेल ने यह नियुक्ति विश्वविद्यालय अधिनियम 1973 की धारा 13 की उपधारा एक के अंतर्गत की है। प्रो. पांडे का कार्यकाल कार्यभार ग्रहण करने की दिनांक से 4 वर्ष की कालावधि के लिए होगा।

इटावा-श्योपुर-कोटा चंबल एक्सप्रेस वे को स्वीकृति पर शर्मा ने जताया आभार

केन्द्रीय सड़क, परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गड़करी जी ने मध्यप्रदेश को जो सौगातें दी हैं, उनके लिए मैं प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी एवं श्री गडकरी जी को धन्यवाद देता हूं। आज का दिन प्रदेश में अधोसंरचना के विकास की दृष्टि से ऐतिहासिक दिन है और मैं प्रदेश की जनता तथा जनप्रतिनिधियों को बधाई देता हूं। मध्यप्रदेश को सड़कों के नेटवर्क की बड़ी सौगात मिली है, चंबल एक्सप्रेस वे जैसी परियोजना को मंजूरी मिली है, जिनसे न सिर्फ पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा, बल्कि पिछड़े क्षेत्रों और उद्योगों का विकास होगा तथा रोजगार के नए अवसर भी पैदा होंगे।

आयकर छापे के बाद तोमर का फेसबुक लाइव, पूर्व विधायक कटारे को धमकी

मध्यप्रदेश में आयकर विभाग द्वारा बिल्डर राघवेंद्र सिंह तोमर के ठिकानों पर गुरुवार से मारे गए छापे के बाद अब तोमर फेसबुक लाइव पर अपने शुभचिंतकों के सामने आए हैं। फेसबुक लाइव उन्होंने पूर्व विधायक हेमंत कटारे को सीधी चेतावनी दी है कि वे ज्यादा ड्रामा नहीं करें और सीमा में रहें। राजनीति राजनीति में ही करें। इधर कांग्रेस के पूर्व मंत्री जयवर्धन सिंह ने कटारे को धमकी की सूचना के बाद तोमर को धमकाया कि उनके भाजपा नेताओं से संबंधों की जांच की मांग की है।

राष्ट्र निर्माण के लिए पढ़ना-लिखना जरूरी: पटेल

राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने कहा है कि बच्चों में असीमित क्षमता होती है। आवश्यकता उनकी शक्ति और कौशल को निखारकर अवसर देने की है। उन्होंने कहा कि राजभवन परिवार के सभी बच्चों के लिए कंप्यूटर शिक्षा, पुस्तकालय और रचनात्मक गतिविधियों के लिए व्यवस्था की जाएगी। उन्होंने राजभवन के कर्मचारियों का आव्हान किया कि बच्चों में पुस्तक अध्ययन की आदत डालें। शनिवार और रविवार को हर बच्चा एक घंटा पुस्तक जरूर पढ़े।

अमर सिंह का दिल्ली में अंतिम संस्कार

राज्यसभा सांसद अमर सिंह का दिल्ली के छतरपुर में अंतिम संस्कार किया गया. अमर सिंह की दोनों बेटियों ने उन्हें मुखाग्नि दी. गौरतलब है कि अमर सिंह का सिंगापुर में 1 अगस्त को निधन हो गया था. रविवार को उनका पार्थिव शरीर सिंगापुर से दिल्ली लाया गया था.कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से उनके अंतिम संस्कार में चुनिंदा लोग ही मौजूद रहे. इस मौक पर पूर्व अभिनेत्री और बीजेपी नेता जयाप्रदा भी मौजूद रहीं.

कलेक्टर्स को अंतर्राज्यीय सीमाओं पर विशेष निगरानी के निर्देश

गृह विभाग ने सभी जिला कलेक्टर्स को निर्देश दिये हैं कि कोरोना संक्रमण की रोकथाम के दृष्टिगत अंतर्राज्यीय सीमा पर विशेष निगरानी रखी जाये और प्रदेश में आने वालों की ट्रेसिंग सुनिश्चित करें। उल्लेखनीय है कि शुक्रवार को मुख्यमंत्री ने कोरोना समीक्षा बैठक में उक्त आशय के निर्देश दिये हैं।

उमा भारती से सिंधिया ने की मुलाकात

भाजपा की वरिष्ठ नेता उमा भारती से मंगलवार को भोपाल प्रवास के दौरान ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मुलाकात की । उमा भारती और सिंधिया के बीच चर्चा भी हुई और इसके बाद सिंधिया बागली व आगर मालवा के चुनावी दौरे पर निकल गए। उमा भारती ने इस मुलाकात के बाद कहा कि कांग्रेस में राहुल गांधी के कारण यह सब हो रहा है।

आठ जवानों का हत्या का आरोपी विकास दुबे कानपुर पहुंचने के पहले ही मरा

उत्तरप्रदेश के कानपुर का दुर्दांत अपराधी विकास दुबे आठ जवानों की हत्या के बाद फरारी काटते हुए मध्यप्रदेश के उज्जैन में महाकाल मंदिर में जिंदा पकड़ा तो गया लेकिन वह कानपुर पहुंचने के पहले ही मारा गया। उत्तरप्रदेश पुलिस के मुताबिक उसे उज्जैन से लेकर कानपुर जा रही थी कि अचानक एक एक्सीडेंट हुआ और जवान का हथियार छीनने के बाद चकमा देकर भागने की कोशिश में पुलिस की गोलियों से मारा गया। हालांकि पुलिस की यह कहानी किसी के भी गले नहीं उतर रही है क्योंकि घटनास्थल, दुर्घटनाग्रस्त वाहन और वाहन में दुबे के अलावा बैठे सिपाहियों को घटना के कई घंटे बाद तक पुलिस ने आमजन से दूर रखा।