रेमडेसीविर इंजेक्शन चोरी होना हेरा फेरी है : दुर्गेश शर्मा

मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री एवं प्रवक्ता दुर्गेश शर्मा ने हमीदिया अस्पताल के स्टोर रूम से रेमडेसीविर इंजेक्शन चोरी होने पर सवाल उठाते हुए प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान से जानना चाहा है कि आखिर कौन है जो इन जीवन रक्षक दवाओं के संग हेराफेरी कर रहा है ? आखिर किसे बचाने के लिए रेमडेसीवर इंजेक्शन की चोरी को हेरा फेरी में तब्दील कर दिया है? आखिर किसके पास हैं, बाकी के इंजेक्शन ? क्या फिर एक बार रसूखदार को बचाने के लिए एक नई कहानी गढ दी गई है? 

जिस समय जीवन बचाने की आवश्यकता है उस समय इंजेक्शन की चोरी होना और आधे मिल जाना मध्यप्रदेश की लचर कानून और प्रशासनिक अव्यवस्था पर कई सवाल खड़े करता है। लेकिन शिवराज जी और उनके मंत्री खासकर स्वास्थ्य मंत्री इन अव्यवस्थाओ पर पर्दा डाल छुपाछुपी का खेल खेल रहे है और प्रदेश की जनता की जान जोखिम में डालने का कुत्सित कृत्य कर रहे है।

श्री शर्मा ने कहा कि प्रदेश के मुखिया अब अपनी जवाबदेही का निर्वहन ठीक से नहीं कर पा रहे हैं। लाशों को छुपाया जा रहा है। कोरोना के आंकड़े में हेराफेरी चल रही है। मरीजों को समय पर इलाज नहीं मिल रहा है। 

863 इंजेक्शन एक इंजेक्शन में छः वाईल अर्थात 5178 बार यह इंजेक्शन अनेक इंसानों को लगते जो आज जीवन मृत्यु से संघर्ष कर रहे हैं वे आज सुरक्षित और स्वस्थ हो चुके होते। 

 श्री शर्मा ने कहा शिवराज जी आखिर कब तक इस तरह के कुकृत्यों से लोगों के जीवन के साथ खिलवाड़ चलता रहेगा?

आखिर कब प्रदेशवासी अपने आप को सुरक्षित महसूस कर सकेंगे ? कब आपके प्रशासन में बैठे लोग मध्यप्रदेश वासियों के साथ जीवन मृत्यु का खेल बंद करेंगे? 

आखिर प्रदेश की स्वास्थ्य सेवाओं में इस तरह के दुष्कर्म और कुकृत्य जो व्यापम से शुरू हुए जो आज तक अवरिल चल रहे हैं, कब खत्म होंगे ? कब प्रदेश की आम जनता अपने लिए अस्पताल में बेड के लिए संघर्ष करना बंद करेगी , कब बेड मिलने के बाद ऑक्सीजन और जीवन के लिए अति आवश्यक जीवनरक्षक दवाईयों की इस तरह की हेरा फेरी नहीं होगी, अस्वस्थ होने पर हम किस आत्मविश्वास के साथ घर से अस्पताल जाएं कि हम स्वस्थ होकर ही वापस आएंगे ? शिवराज जी बताए, जवाब दीजिए, आखिर कब और आखिर कब ?

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *