रक्षाबंधन का अवकाश न होने से बैंक कर्मियों में आक्रोश

बैंक कर्मचारी और अधिकारियों के शीर्ष संगठन, युनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस और राज्य स्तरीय बैंकर्स समिति एसएलबीसी के कन्वेनर एस डी माहुरकर ने शासन को पत्र लिखकर रक्षाबंधन त्यौहार के सोमवार 3 अगस्त निगोशियेवल इंस्ट्रूमेंट एक्ट-1881 के तहत बैंकों और वित्तीय संस्थानों में अवकाश घोषित करने का अनुरोध किया है।

राज्य स्तरीय बैंकर्स समिति के समन्वयक एस डी माहुरकर द्वारा कमिश्रर इंडस्ट्रीयल फायनेंस मध्यप्रदेश शासन को लिखे पत्र में उल्लेख किया कि 15 नंवबर 2019 को एसएलबीसी की बैठक में रक्षाबंधन, जन्मआष्टमी, गोवर्धन पूजा, रंगपंचमी के दिन हॉलिडे घोषित करने पर भी सहमति दी चा चुकी है। अत: राज्य सरकार से अनुरोध है कि उक्त दिन को बैंक और वित्तीय संस्थानों अवकाश घोषित किया जाए।
इधर यूनाईटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस के पदाधिकारियों वी के शर्मा, संजीव सबलोक, अरूण भगोलीवाल, डी.के.पोद्दार, नजीर कुरैशी, मदन जैन, संजय कुदेशिया, संतोष जैन, वी.एस.नेगी, सुनील सिंह, अंबर नायर, दीपक रत्न शर्मा, आशिष तिवारी, रजत मोहन वर्मा, जेपी झंवर , प्रदीप विलाला ,एम जी शिंदे, रंजीत सिंह ,गुणशेखरन ,एम एस जयशंकर, आरके हीरा आदि ने मुख्यमंत्री को पत्र भेजकर अपील की है कि राज्य के बैंक एवं वित्तीय संस्थानों में निगोशियेवल इंस्ट्रूमेंट एक्ट-1881 के तहत सार्वजनिक अवकाश घोषित करना, राज्य सरकार का विवेकाधिकार है। मप्र शासन द्वारा वर्ष 2020 के लिए निगोशियेबल इन्स्ट्रूमेंट एक्ट के तहत मात्र 19 अवकाश घोषित किए गए है, जिनमें से 3 अवकाश रविवार (26 जनवरी 2020 को गणतंत्र दिवस, 30 अगस्त 2020 को मोहर्रम, 25 अक्टूबर 2020 को दशहरा)को है अत: वास्तविक रूप से मात्र 16 अवकाश ही है। कामरेड वी.के.शर्मा ने कहाकि मप्र शासन द्वारा घोषित 16 अवकाशों में रक्षाबंधन जैसे महत्वपूर्ण त्यौहार को बाहर रखना आश्चर्यजनक है। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा वर्ष 2020 के लिए निगोशिएबल इन्स्ट्रेंट एक्ट के तहत 25 अवकाश घोषित किए है जिसमें रक्षा बंधन का त्यौहार भी शामिल है। उत्तर प्रदेश के अलावा हिमाचल प्रदेश, गुजरात, राजस्थान, उत्तराखंड आदि हिन्दी भाषी राज्यों में भी 3 अगस्त 2020, रक्षा बंधन को एनआईएक्ट के तहत वर्ष 2020 में सार्वजनिक अवकाश घोषित किया गया है।
फोरम के पदाधिकारियों ने कहा कि वर्तमान में बैंक कर्मी अपनी जान की परवाह न कर कोरोना योद्धा की भूमिका निभाते हुए लगातार बैंकों में ग्राहक सेवा प्रदान कर रहे हैं ।जब राज्य, केंद्र एवं अन्य संस्थानों में रक्षाबंधन का सार्वजनिक अवकाश है तो बैंक एवं वित्तीय संस्थानों में क्यों नहीं? उन्होंने माननीय मुख्यमंत्री महोदय के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करते हुए उन से अनुरोध किया है कि बैंक एवं वित्तीय संस्थानों में भी 03 अगस्त 2020 को रक्षाबंधन के पावन त्यौहार पर सार्वजनिक अवकाश घोषित किया जावे.

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *