चुनाव के बाद हम दीपावली साथ में मनायेंगे: कमलनाथ

मै प्रदेश की जनता से अपील करता हूं प्रदेश में लोकतंत्र,प्रजातंत्र व संविधान की रक्षा के लिए आगे आये।आप प्रदेश का कैसा भविष्य चाहते है, वोट से बनी सरकार या नोट से बनी सरकार, यह आपको तय करना है।इनका बस चलेगा तो पंचायत का चुनाव भी नहीं करायेंगे, बोली लगाकर आपके सरपंच का चुनाव भी हो जाएगा। क्या आप प्रदेश का ऐसा भविष्य चाहते हैं , क्या आप ऐसा लोकतंत्र चाहते हैं ? नहीं तो प्रदेश का भविष्य सुरक्षित रखने के लिए आप आगे आए “

उक्त संबोधन प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आज मंदसौर की सुवासरा विधानसभा क्षेत्र के सीतामऊ क्षेत्र में एक विशाल जनसभा में देते हुए कहा कि हमारी सभाओं में भीड़ आयी हुई होती है, लायी हुई या सरकारी भीड़ नहीं होती है और आपका इतना बड़ा जनसैलाब देखकर मुझे ताकत, बल व शक्ति मिली है।
उन्होंने कहा कि याद करें जब क्षेत्र में अतिवृष्टि हुई थी तो मैं आपके बीच में आया था।उस समय मैंने देखा कि किसान भाइयों की आंखों में आंसू थे, किसानों में निराशा का भाव था। मेने यहां से वापस जाते ही अधिकारियों को बुलाया, उन्होंने कहा सर्वे करेंगे। मैंने उन्हें कहा कि कमलनाथ सर्वे के भरोसे रुकने वालों में से नहीं है, फाइलों का पेट बाद में भर लेना पहले मुझे किसानों का पेट भरना है और आप जानते हैं कि हमने किसानों को तत्काल मुआवजा प्रदान किया। मैं घोषणा वीर मुख्यमंत्री नहीं हूं।शिवराज जी तो जेब में दो-दो नारियल लेकर चल रहे हैं, कहीं भी फोड़ देते हैं और यहां भी आकर उन्होंने कई झूठी घोषणाए की है।चुनाव बाद सारे नारियल जनता गाड़ियों में भरकर शिवराज जी को वापस भिजवा देगी।
इस अवसर पर नाथ ने कहा कि प्रदेश की जनता ने हम पर विश्वास किया था,15 वर्ष बाद हमें प्रदेश सौंपा था। शिवराज जी ने जो प्रदेश हमें सौंपा था, वह किसानों की आत्महत्या में, बेरोजगारी में, भ्रष्टाचार में नंबर वन था और खुद को मामा कहने वाले शिवराज के राज में प्रदेश महिलाओं के अत्याचार में भी नंबर वन था।हमने 15 माह में किसानों की आर्थिक मजबूती, युवाओं को रोजगार को लेकर कई काम किए।हमने प्रदेश की एक नई तस्वीर बनाने का काम किया क्योंकि भाजपा सरकार में प्रदेश की पहचान माफियाओं से और मिलावटखोरों से थी।इन्होंने बाबासाहेब के बनाए हुए संविधान के साथ भी खिलवाड़ किया, सौदेबाजी व बोली से सरकार बना ली लेकिन इस चुनाव के बाद हम दीपावली साथ में मनाएँगे।
उन्होंने कहा कि जब भाजपा से रोजगार की बात करो, किसानों की बात करो तो यह उसकी बात नहीं करेंगे, यह तो पाकिस्तान और चीन की बात करने लग जाते हैं। हमने 27 लाख किसानों का कर्ज माफ किया, विधानसभा में ख़ुद भाजपा सरकार ने इसे स्वीकारा और हमारी सरकार वापस आने पर आने पर वादे के मुताबिक हम बचे किसानों का भी कर्ज माफ करेंगे। शिवराज जी को आज भी मेरी खुली चुनौती है कि कर्ज माफी को लेकर किसी भी समय मुझसे आकर आमने-सामने बहस कर ले, मैं कर्ज माफी के सारे प्रमाण उनके सामने रख दूंगा और उनके झूठ को प्रदेश की जनता के सामने बेनकाब कर दूँगा।मुझे शिवराज से,भाजपा से नहीं ,जनता से प्रमाण पत्र चाहिए।
मै क्षेत्र की जनता से कहना चाहता हूं कि वह शासकीय तंत्र जो भाजपा का एजेंट बनकर काम कर रहे हैं, उन से डरने की, घबराने की जरूरत नहीं। हमारी सरकार आने पर एक-एक से जनता को गवाह बनाकर हिसाब लेंगे।हमारा प्रदेश 5 राज्यों से घिरा हुआ है, हमारे प्रदेश में निवेश क्यों नहीं आ सकता क्योंकि विश्वास का माहौल नहीं था।हम रोजगार की बात करते हैं, यह बेरोजगार बनाने की बात करते हैं। हम किसान हित की बात करते हैं, यह मंडी के निजीकरण का, किसानो को बर्बाद करने वाले कानून ले आए। इन्होंने सदैव देश की जनता को ठगा है।
मैंने आपके बीच राकेश पाटीदार जैसा युवा उम्मीदवार दिया है। यह उत्साहित कार्यकर्ता है, सक्रिय है। जनता के हितों के लिए व क्षेत्र के विकास के लिये यह इसी उत्साह से काम करेंगे।
आप इन्हें भारी बहुमत से विजयी बनाइये, हम इनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर क्षेत्र का विकास करेंगे।

इस अवसर पर सभा को पूर्व सांसद मीनाक्षी नटराजन ,सुवासरा विधानसभा के प्रत्याशी राकेश पाटीदार ,पूर्व मंत्री प्रियव्रत सिंह ,विधायक मनोज चावला ,दिलीप गुर्जर ,महेश परमार ,पूर्व मंत्री नरेंद्र नाहटा ,सुभाष सोजतिया ,भारत सिंह जावरा पुष्पा भारती ,जिला अध्यक्ष नवकृष्ण पाटिल आदि ने भी संबोधित किया।

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *