इटावा-श्योपुर-कोटा चंबल एक्सप्रेस वे को स्वीकृति पर शर्मा ने जताया आभार

केन्द्रीय सड़क, परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गड़करी जी ने मध्यप्रदेश को जो सौगातें दी हैं, उनके लिए मैं प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी एवं श्री गडकरी जी को धन्यवाद देता हूं। आज का दिन प्रदेश में अधोसंरचना के विकास की दृष्टि से ऐतिहासिक दिन है और मैं प्रदेश की जनता तथा जनप्रतिनिधियों को बधाई देता हूं। मध्यप्रदेश को सड़कों के नेटवर्क की बड़ी सौगात मिली है, चंबल एक्सप्रेस वे जैसी परियोजना को मंजूरी मिली है, जिनसे न सिर्फ पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा, बल्कि पिछड़े क्षेत्रों और उद्योगों का विकास होगा तथा रोजगार के नए अवसर भी पैदा होंगे।

यह बात भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री विष्णुदत्त शर्मा ने मीडिया से चर्चा के दौरान कही। इससे पूर्व केंद्रीय भूतल परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री श्री नितिन गडकरी ने मध्यप्रदेश में 11427 करोड़ रुपये की लागत वाले निर्माण कार्यों का वर्चुअल लोकार्पण और शिलान्यास किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने की। इस वर्चुअल कार्यक्रम में प्रदेश अध्यक्ष श्री विष्णुदत्त शर्मा, केंद्रीय मंत्री श्री थावरचंद गहलोत, श्री नरेंद्रसिंह तोमर, श्री फग्गनसिंह कुलस्ते, श्री प्रहलाद पटेल, प्रदेश के लोकनिर्माण मंत्री श्री गोपाल भार्गव, प्रदेश के सांसद, विधायक व जनप्रतिनिधि उपस्थित रहे। 

                प्रदेश अध्यक्ष श्री शर्मा ने कहा कि प्रदेश में 1361 कि.मी. लंबी सड़कों व अन्य निर्माण कार्यों के लोकार्पण व शिलान्यास से मध्यप्रदेश में सड़कों का नेटवर्क और विस्तृत होगा और मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान द्वारा प्रदेश के सर्वांगीण विकास के लिए किए जा रहे प्रयासों को बल मिलेगा। श्री शर्मा ने कहा कि केंद्रीय मंत्री श्री गडकरी ने उन निर्माण कार्यों को भी मंजूरी दे दी है, जिनके लिए मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान, केंद्रीय मंत्री श्री नरेंद्रसिंह तोमर, वरिष्ठ नेता श्री ज्योतिरादित्य सिंधिया एवं प्रदेश के जनप्रतिनिधि लंबे समय से प्रयास कर रहे थे। श्री शर्मा ने कहा कि श्री गडकरी ने खजुराहो लोकसभा क्षेत्र में 2051 करोड़ लागत वाली दो परियोजनाओं का लोकार्पण किया है, तथा तीन नए कामों का शिलान्यास किया है। उन्होंने कटनी में 194 करोड़ रुपये की लागत वाले फोर लेन बाइपास के निर्माण, 6.5 करोड़ लागत वाले पवई- कटनी रोड का शिलान्यास, 6.5 करोड़ की लागत वाले गोलगंज-अमानगंज-पवई मार्ग का शिलान्यास, 1034 करोड़ की लागत से बने मैहर से कटनी-स्लीमनाबाद रोड का शिलान्यास और 810.22 करोड़ की लागत वाले स्लीमनाबाद-जबलपुर रोड का लोकार्पण किया है। 

चंबल क्षेत्र में विकास की गाथा लिखेंगी श्री गडकरी की घोषणाएं

                प्रदेश अध्यक्ष श्री शर्मा ने कहा कि केंद्रीय मंत्री श्री गडकरी ने लोकार्पण और शिलान्यास के अलावा कई नए कामों को स्वीकृति भी दी हैं, जिनसे प्रदेश के विकास को रफ्तार मिलेगी। उन्होंने कहा कि श्री गडकरी ने राम वन गमन पथ की सड़कों के लिए जो 1700 करोड़ रूपए की अनुमति दी है, वह प्रदेशवासियों के लिए सौभाग्य का विषय है और उन लोगों के गाल पर तमाचा है जो लगातार इस पर प्रश्न खड़ा करते रहे हैं। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ हमेशा यही कहते रहे कि हमारे पास पैसा ही नहीं है और अपनी जेबें भरने का काम करते रहे। श्री शर्मा ने कहा कि चंबल एक्सप्रेस वे जो अब अटल प्रोग्रेस वे के नाम से जाना जाता है, के काम को कमलनाथ सरकार ने ठंडे बस्ते में डाल दिया था, लेकिन मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान, केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्रसिंह तोमर,सांसद श्री ज्योतिरादित्य सिंधिया सहित सभी जनप्रतिनिधियों ने जो प्रयास किए, उसके फलस्वरूप श्री गडकरी ने इटावा-श्योपुर-कोटा के बीच 358 कि.मी. लंबे और 8000 करोड़ की लागत वाले अटल चंबल प्रोग्रेस वे को स्वीकृति प्रदान की है। इससे चंबल क्षेत्र विकास के नए आयाम लिखेगा। जहां कभी डाकुओं का आतंक था अब वहां पर केन्द्र और प्रदेश सरकार मिलकर विकास की गाथा लिखेंगी। इसके अलावा श्री गडकरी ने 500 करोड़ लागत वाले उज्जैन-झालावाड़ रोड, 200 करोड़ लागत वाले सागरटोला-कबीर चबूतरा रोड, 160 करोड़ की लागत वाले बुधनी- रहटी रोड, 3000 करोड़ की लागत वाले इंदौर-सनावद-बोरगांव रोड, 3800 करोड़ लगात वाले बोरगांव-बुरहानपुर-अकोला रोड के संबंध में भी घोषणाएं की हैं।

भाजपा सरकार ने तेज की विकास की रफ्तार

                प्रदेश अध्यक्ष श्री शर्मा ने कहा कि केंद्र में स्व.श्री अटलबिहारी वाजपेयी जी की सरकार ने विकास में सड़कों के महत्व को समझते हुए प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना और स्वर्णिम चतुर्भुज योजना पर काम शुरू किया।2014 में प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार ने इस काम को गति दी। 2014 के पहले देश में प्रतिदिन सिर्फ 03 कि.मी. सड़कें बनती थीं, जबकि अब 33 कि.मी. सड़क प्रतिदिन बन रही है। उन्होंने कहा कि2014 से पूर्व मध्यप्रदेश में 5154 कि.मी. नेशनल हाईवे थे, जो अब 13000 कि.मी. से अधिक हो गए हैं। अब प्रदेश के 55 में से 54 जिले नेशनल हाईवे से जुड़ गए हैं। श्री शर्मा ने आशा जताई कि आने वाले समय में प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय मंत्री श्री गडकरी और मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान के नेतृत्व में प्रदेश में अच्छी गुणवत्ता वाली सड़कों के नेटवर्क का और विस्तार होगा।

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *