Category Archives: गुजरात

पटेल की मूर्ति के रख रखाव पर रोज़ ख़र्च होंगे 12 लाख़

देश के पहले गृहमंत्री सरदार पटेल की मूर्ति का उद्घाटन होते ही ये दुनिया की सबसे बड़ी मूर्ति बन गई. ये देश के लिए गौरव की बात है और इससे जुड़ी बड़ी सारी जानकारियां सामने आ रही हैं.

प्रधानमंत्री ने सरदार वल्‍लभभाई पटेल को देश के एकीकरण का श्रेय दिया

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने सरदार वल्‍लभभाई पटेल को देश के एकीकरण का श्रेय दिया है। सरदार पटेल एक साहसिक व्‍यक्ति थे, जिन्‍होंने भारत को वि‍खंडित करने के प्रयासों को विफल किया। राष्‍ट्रीय एकता दिवस पर प्रधानमंत्री आज गुजरात के नर्मदा जिले के केवडि़यां में सरदार वल्‍लभभाई पटेल की प्रतिमा ‘स्‍टेच्‍यू ऑफ यूनिटी’ को राष्‍ट्र को समर्पित करने के अवसर पर बोल रहे थे। उन्‍होंने कहा कि अगर सरदार पटेल ने भारत का एकीकरण न किया होता तो हमें सोमनाथ के दर्शन करने और गिर के जंगलों में शेर देखने या हैदराबाद के चारमीनार को देखने के लिए वीजा लेना पड़ता।

द स्टैच्यू ऑफ यूनिटी को प्रधानमंत्री राष्ट्र को समर्पित करेंगे

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी कल गुजरात में विश्‍व की सबसे ऊंची प्रतिमा द स्‍टैच्‍यू ऑफ यूनिटी को राष्‍ट्र को समर्पित करेंगे। नर्मदा जिले के केवदिया में स्‍थापित सरदार वल्‍लभ भाई पटेल की 182 मीटर ऊंची प्रतिमा को उनकी जयंती पर राष्‍ट्र को समर्पित किया जाएगा। इस अवसर पर जनसभा को भी संबोधित करेंगे।

हार्दिक पटेल बिचोली मरदाना में किसान सभा संबोधित करेंगे

किसान क्रांति सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष हार्दिक पटेल ने शनिवार को उज्जैन में महाकाल दर्शन कर नलखेड़ा में युवा संवाद कार्यक्रम में शामिल होकर संबोधित किया। हार्दिक पटेल के मध्य प्रदेश में 21 अक्टूबर सुबह 11:00 बजे जामली से गवली पलासिया से महू से राऊ होते हुए बिचोली मरदाना में किसान सभा संबोधित करेंगे। 21 रात को सागर में रात्रि विश्राम करेंगे।

जिनके लिए राष्ट्र से बड़ा वोट है, वे रोते रहें, हम तो उन्हें निकालकर रहेंगे: अमित शाह

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा है कि कांग्रेस ने हमेशा राष्ट्र की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ किया और आज भी उसके लिए देश की सुरक्षा से बड़ा उसके लिए वोट है। यही कारण है कि घुसपैठियों के मामले पर राहुल एंड कंपनी चिंता से दुबली हुई जा रही है। असम में हमारी सरकार बनने के बाद एनआरसी पर तेजी से काम करते हुए 40 लाख घुसपैठिए चिन्हित कर लिए गए हैं और मैं स्पष्ट करना चाहता हॅू कि घुसपैठियों का खदेड़ने का जो काम हमने प्रारंभ किया है। वह काम 2019 में पुनः मोदी जी की सरकार बनने के बाद और गति पकड़ेगा, जिसके तहत देश भर से चुन-चुनकर घुसपैठियों को बाहर निकाल दिया जाएगा। मैं राहुल गांधी से स्पष्ट शब्दों में पूछना चाहता हॅू कि वह बताएं कि घुसपैठियों को देश से बाहर निकाला जाए या नहीं।

गुजरात के 54 मामलों में 431 दंगाई गिरफ्तार

गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपानी ने कहा है कि उन सभी तत्वों को कुछ ही घंटों में गिरफ्तार कर लिया गया है जिन्होंने वहां रह रहे अन्य राज्यों के लोगों पर हमला किया है। राजकोट में मीडिया के लोगों से बात करते हुए, उन्होंने पुलिस सुरक्षा का आश्वासन देते हुए कहा कि कि उन्हें पर्याप्त सुरक्षा प्रदान की जा रही है। स्थिति नियंत्रण में है और पिछले 48 घंटों के दौरान किसी बड़ी घटना की खबर नहीं है। ऐसे 54 मामलों में 431 दंगाईयों को गिरफ्तार किया गया है।

भारत ने वेस्टइंडीज को पारी 272 रनों से हराया

राजकोट में भारत ने पहले टेस्ट में वेस्टइंडीज को तीसरे दिन ही टेस्ट मैच में पारी और 272 रनों से हरा दिया। मैन ऑफ द मैच पदार्पण मैच खेलने वाले भारत के पृथवी शॉ को मिला।

अमूल डेयरी के चॉकलेट संयंत्र का उद्घाटन

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने गुजरात में आणंद जिले के मोगार गावं में अमूल डेयरी के अत्‍याधुनिक चॉकलेट संयंत्र का उद्घाटन किया। इस पर लगभग एक सौ 90 करोड़ रूपये की लागत आई है। श्री मोदी ने उद्यमियों और स्‍टार्टअप योजना को बढ़ावा देने के लिए इंक्‍यूबेशन सेंटर तथा उत्कृष्टता केंद्र के साथ-साथ प्रतिदिन छह सौ टन क्षमता वाले टेक होम राशन संयंत्र और मासिक छह सौ टन की क्षमता वाले उपचारात्‍मक खाद्य संयंत्र का भी उद्घाटन किया।

कच्छ जिला पानी के अभाव वाला क्षेत्र घोषित

गुजरात सरकार ने पूरे कच्‍छ जिले को पानी के अभाव वाला क्षेत्र घोषित कर दिया है। राज्य के मुख्‍यमंत्री विजय रूपानी ने कल रात कच्‍छ के भुज जिला मुख्‍यालय में समीक्षा बैठक के बाद यह घोषणा की। कच्‍छ जिले के अलावा उन सभी तहसीलों और प्रखंडों को भी पानी के अभाव वाला घोषित किया गया है जहां मौजूदा मॉनसून के दौरान एक सौ 25 मिलीमीटर से कम वर्षा हुई है। श्री रूपानी ने घोषणा की कि पानी के अभाव वाले इलाकों

पेट्रोल में ईथोनोल मिलाने का लायसेंस नहीं लेना पड़ेगा

प्रदेश में अब तेल कंपनियों को पैट्रोल में ईथोनोल मिलाने का लायसेंस राज्य के आबकारी कार्यालय से नहीं लेना होगा। यही नहीं, तेल कंपनियों को ईथोनोल का आयात करने एवं परिवहन का भी कोई शुल्क आबकारी कार्यालय को भुगतान नहीं करना होगा। इसके लिये राज्य सरकार ने मप्र आबकारी अधिनियम 1915 के तहत 58 साल पहले बने विप्रकृति (डिनेचर्ड) स्प्रिट नियम 1960 में संशोधन कर दिया है।