Category Archives: उत्तर प्रदेश

अयोध्या के फैसले को ध्यान में रख ऐहतियातन सुरक्षा के व्यापक इंतजाम

गृह एवं जेल मंत्री बाला बच्चन ने आज मंत्रालय में गृह विभाग तथा वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों की बैठक में निर्देश दिये कि अयोध्या पर सर्वोच्च न्यायालय के आने वाले फैसले को ध्यान में रखकर प्रदेश में शांति एवं कानून-व्यवस्था बनाये रखने के लिये सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये जायें। बैठक में प्रमुख सचिव गृह एसएन मिश्रा एवं पुलिस महानिदेशक विजय कुमार सिंह सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

शहरीकरण-नगरीय प्रबंधन में रियल एस्टेट क्षेत्र की भूमिका महत्वपूर्ण: डिसा

म.प्र. भू-संपदा विनियामक प्राधिकरण (रेरा) अध्यक्ष अंटोनी डिसा ने कहा कि आने वाले दिनों में शहरीकरण की गति बढ़ने के फलस्वरूप उत्पन्न विभिन्न चुनौतियों का सामना करने में नगरीय प्रबंधन में रियल एस्टेट क्षेत्र की महत्वपूर्ण भूमिका है। उन्होंने कहा कि इसी उद्देश्य से मध्यप्रदेश में बेहतर नगरीय प्रबंधन के लिये रियल एस्टेट नीति तैयार की गई है। डिसा आज लखनऊ में “प्रथम राष्ट्रीय रेरा कॉन्क्लेव-2019” को संबोधित कर रहे थे। दो दिवसीय राष्ट्रीय कॉन्क्लेव रेरा उत्तरप्रदेश राज्य ने आयोजित किया है।

अयोध्या मसले के फैसले को लेकर पुलिस पूरी तरह सजग, सर्तक व मुस्तैद रहे: डीजीपी

अयोध्या मसले पर आने वाले सर्वोच्च न्यायालय के फैसले को लेकर पुलिस पूरी तरह सजग, सर्तक एवं मुस्तैद रहे। सांप्रदायिक सद्भाव बनाए रखने के लिए फैसले के हर पहलू को ध्‍यान में रखकर अभी से पुख्ता तैयारियाँ की जाएँ। इस आशय के निर्देश पुलिस महानिदेशक विजय कुमार सिंह ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए प्रदेश के सभी क्षेत्रीय पुलिस महानिरीक्षकों एवं पुलिस अधीक्षकों को दिए।

अगले 6 साल तक हिमालय पर रहकर मौन व्रत धारण करेंगी उमा भारती

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की वरिष्ठ नेता एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री साध्वी उमा भारती ने कहा कि वे अगले छह वर्ष तक हिमालय पर रहकर मौन व्रत धारण करेंगी।

संतो की कुटिया, आश्रम, मंदिर व गौशला का पट्टा मिलेगा

भोपाल के मिंटो हाल में मंगलवार को आयोजित संतों के समागम में मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा है कि जिन संतों की कुटिया आश्रम, मंदिर एवं गौ-शाला हैं, उन्हें स्थाई पट्टा देने पर सरकार विचार करेगी। सम्मेलन में बड़ी संख्या में प्रदेश भर से आए साधु-संत शामिल हुए। प्रारंभ में सम्मेलन में सभी संतों की ओर से आशीर्वाद स्वरूप कम्प्यूटर बाबा ने मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ को पुष्पमाला भेंट की।

ईनामी डकैत बबुली कोल और लवलेश कोल पुलिस मुड़भेड़ में मारा गया

सतना में साढ़े छह लाख का ईनामी डकैत बबुली कोल और 1 लाख 80 हजार का इनामी लवलेश कोल धारकुंडी थाने के लेदरी के जंगल मे पुलिस मुड़भेड़ में मारा गया। एक रिवाल्वर और 12 बोर का कट्टा जप्त ।

राज्यपाल टंडन से मिले मंत्री पीसी शर्मा

राज्यपाल लालजी टंडन से जनसम्पर्क मंत्री पीसी शर्मा ने गुरुवार को राजभवन में सौजन्य भेंट की। इस अवसर पर प्रमुख सचिव जनसम्पर्क संजय कुमार शुक्ला भी मौजूद थे। शर्मा ने राज्यपाल को अपने विभाग की गतिविधियों के बारे में जानकारी दी।

शिक्षक सम्मान समारोह में इंतजार कराने के बाद शिक्षा मंत्री राज्यपाल से मिलने पहुंचे

शिक्षक दिवस पर राज्यस्तरीय सम्मान समारोह में शुक्रवार को राज्यपाल लालजी टंडन अपने पूर्व निर्धारित समय पर पहुंच गए थे लेकिन स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रभूराम चौधरी बाद में पहुंचे। राज्यपाल ने इस बात को लेकर नाराजगी भी जताई थी जिससे मंत्री और विभाग को गलती का अहसास हुआ। शनिवार को स्कूल शिक्षा मंत्री चौधरी व विभाग की प्रमुख सचिव व आयुक्त लोक शिक्षण उनसे मिलने पहुंचे।

राज्यपाल लालजी टंडन से स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने राजभवन में सौजन्य भेंट की। डॉ. चौधरी ने कहा कि सम्मानित शिक्षकों को राजभवन में आमंत्रित कर स्वागत करने की परम्परा अनुकरणीय है। उन्होंने बताया कि इस परम्परा से शिक्षक समुदाय में हर्ष का वातावरण है। शिक्षकों का मनोबल बढ़ा है और उन्हें उत्कृष्ट कार्य करने की प्रेरणा मिली है। इस मौके पर प्रमुख सचिव स्कूल शिक्षा श्रीमती रश्मि अरुण शमी और आयुक्त लोक शिक्षण श्रीमती जयश्री कियावत भी उपस्थित थीं।

आरबीआई ने जारी की प्रतिबंधित गैर-बैंकिंग संस्थाओं की सूची

रिजर्व बैंक आँफ इंडिया ने 23 प्रतिबंधित गैर बैकिंग संस्थाओं की सूची जारी की है। सभी लोगों को सलाह दी है कि वे ऐसी प्रतिबंधित गैर बैंकिंग सस्थाओं के साथ बैंकिंग नहीं करें और धन जमा नहीं करें। आरबीआई ने वेबसाइट पर ऐसी गैर बैंकिंग संस्थाओं की सूची जारी की है। इन संस्थाओं को वित्तीय व्यापार करने से प्रतिबंधित किया है।

बाबूलाल गौर का निधन, हजारों की भीड़ उमड़ी

1974 के बाद से लगातार 10 बार भोपाल से विधानसभा में जीत हासिल करने वाले पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर का बुधवार की सुबह निधन हो गया। गौर दो जून 1929 को जन्मे और युवा अवस्था में भोपाल आ गए थे। यहां कपड़ा मिल में मजदूर नेता रहे और 1972 में पहली बार चुनाव लड़ा लेकिन हार गए। कोर्ट में चुनौती देने पर उनकी जीत हुई लेकिन उन्हें उप चुनाव लड़ना पड़ा। इसमें जीत के बाद वे फिर कभी नहीं हारे। आज उनकी सीट से बहू कृष्णा गौर विधायक हैं।