2016 में शुरू हुई प्रधानमंत्री मुद्रायोजना से सिक्किम के बेरोजगारयुवा लाभान्वित

2016 में शुरू हुई प्रधानमंत्री मुद्रायोजना से सिक्किम के बेरोजगारयुवा लाभान्वित हो रहे हैं। यह योजना गैर-कॉरपोरेट लघु व्यवसाय क्षेत्र की वित्तीयजरूरतों को पूरा करने के लिए शुरू की गई थी। लाभार्थी तीन श्रेणियों- ‘शिशु’, ‘किशोर’और ‘तरुण’ योजना के अंतर्गत विनिर्माण, व्यापार या सेवा क्षेत्र में उद्यम स्थापितकरने या सुधारने के लिए 50 हजार से 10 लाख रूपये तक का ऋण ले सकते हैं।

राज्य में पर्यटन को बढ़ावा देने में मुद्रा योजना की अहम भूमिकाहै। इस योजना के ज्यादातर लाभार्थी सेवा क्षेत्र से जुड़े होटल और रेस्टोरेंट मालिकहैं। स्थानीय युवकों में मुद्रा योजना की सहायता से बड़ी और महंगी टैक्‍सि‍यों के खरीदनेका चलन आम होता जा रहा है। गंगटोक में मिनि डिपार्टमेंट स्टोर चलाने वाले तीस वर्षीयव्यापारी गणेश कारकी ने हाल ही में मुद्रा योजना का लाभ उठाया है। उन्होंने कारोबारके लिए बैंक से करीब आठ लाख रुपये कर्ज लिये। श्री कारकी अब एक सफल उद्यमी है और मानतेहै कि सामने आने वाली हर चुनौतियों का सामना करके ही सफलता हासिल की जा सकती है। मैंगंगटोक में रहता हूं। डिपार्टमेंटल स्टोर चलाता हूं। वो डिपार्टमेंटल स्‍टोर मैंनेभारत सरकार की मुद्रा योजना की मदद से खोली है। मैं खुद 2-4 जन को जॉब दे सकता हूं।यह हिम्‍मत युवा ने कर ली तो ये देश ऐसी ही योजना से बहुत  आगे  जाएगा।सिक्किम में इन दिनों मुद्रा लाभार्थियों को प्रोत्साहित करने के लिए जागरुकता प्रशिक्षणऔर कौशल विकास पर जोर दिया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *