मेट्रो रेल से इन्दौर के विकास में तेजी आएगी:

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आज इन्दौर में 7500.80 करोड़ रुपये लागत की इन्दौर मेट्रो रेल परियोजना का भूमि-पूजन कर शिलान्यास किया। श्री नाथ ने कहा कि परियोजना के पूरा होने पर इन्दौर के विकास में तेजी आयेगी।

मुख्यमंत्री नाथ ने इन्दौर की इस बहुप्रतीक्षित परियोजना का भूमि-पूजन करते हुए कहा कि आज से दस वर्ष पूर्व जब वे केन्द्र में शहरी विकास मंत्री थे तब उन्होंने भोपाल और इन्दौर के लिए स्वीकृति दी थी और तत्कालीन सरकार को इसका डीपीआर बनाने को कहा था। आज दस साल बाद इन्दौर की मेट्रो रेल परियोजना की शुरुआत होने जा रही है। श्री नाथ ने कहा कि इसके निर्माण, संचालन और रख-रखाव की गतिविधियों से इन्दौर और आस-पास के क्षेत्रों में रोजगार के व्यापक अवसर बढ़ेंगे। सड़क दुर्घटनाओं में कमी के साथ ही यातायात पर दबाव कम होगा और लोगों को सबसे विश्वसनीय और सुरक्षित सार्वजनिक परिवहन उपलब्ध होगा। श्री नाथ ने कहा कि इससे शहर का सौन्दर्यीकरण होगा और प्रदूषण में कमी आएगी।

मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा कि समय की मांग है कि शहरों का विस्तारीकरण हो और लोगों की सुविधा के लिए सार्वजनिक परिवहन की भी व्यवस्था हो। इस दृष्टि से मेट्रो रेल परियोजना की शुरुआत आज हो रही है। शहरों की बढ़ती आबादी को लेकर हमें नए नियोजन के साथ काम करना होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि शहरों के विस्तार और विकास में सरकार के साथ-साथ आमजन का भी सहयोग जरूरी है। उन्होंने कहा कि नोएडा और गुरूग्राम जैसे शहर इसी दृष्टिकोण से विकसित हुए हैं। उन्होंने कहा कि मेट्रो रेल परियोजना की इन्दौर में शुरुआत हो रही है। भविष्य में इस परियोजना से उज्जैन, राऊ, देवास और धार जिले को भी जोड़ा जाएगा।

एक नजर में परियोजना

मुख्यमंत्री द्वारा इन्दौर के एमआर-10 पर टोल नाके के पास इन्दौर मेट्रो रेल परियोजना की आधारशिला रखी गई। परियोजना की कुल लम्बाई 31.55 किलोमीटर होगी। इसमें 26 स्टेशन एलीवेटेड और चार अंडरग्राउंड स्टेशन बनेंगे। इस तरह कुल 30 स्टेशन बनाये जाएंगे। इसके निर्माण की समय-सीमा भी तय की गई है। गाँधी नगर से इन्दौर रेल्वे स्टेशन तक एलीवेटेड सेक्शन 31 दिसम्बर 2022 तक और अंडरग्राउंड सेक्शन इन्दौर रेल्वे स्टेशन से गाँधीनगर तक 31 जुलाई 2023 तक पूरा होगा। डिपो लाइन का कार्य 28 फरवरी 2023 तक और सिस्टम लाइन का कार्य 31 अगस्त 2023 को पूरा होगा। मेट्रो रेल का प्रस्तावित मार्ग बंगाली स्क्वायर से नैनोद, भँवरसला स्क्वायर और रेडिसन स्क्वायर है।

शिलान्यास समारोह को लोक निर्माण मंत्री श्री सज्जन सिंह वर्मा,  गृह मंत्री श्री बाला बच्चन, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री तुलसी सिलावट, उच्च शिक्षा मंत्री श्री जीतू पटवारी, नगरीय विकास और आवास मंत्री श्री जयवर्धन सिंह एवं सांसद श्री शंकर लालवानी ने भी संबोधित किया।

मुख्यमंत्री ने समारोह में नगर निगम इन्दौर द्वारा आम जनता की सुविधा के लिए सरकार की विभिन्न योजनाओं का लाभ देने के लिए बनाये गए “सहकार एप” का लोकार्पण किया। विधायक सर्वश्री रमेश मेंदोला, विशाल पटेल और संजय शुक्ला उपस्थित थे।

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *