मुख्यमंत्री कमल नाथ द्वारा चैनल कार्यक्रम में सवालों के जवाब

मुख्यमंत्री कमल नाथ ने कहा है कि देश में ऐसा माहौल बनाया जा रहा है कि 2014 से पहले देश असुरक्षित था और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनते ही सुरक्षित हो गया। उन्होंने मोदी जी से सवाल पूछा कि क्या भारतीय वायु सेना, थल सेना और जल सेना उनके कारण है।
उन्होंने कहा कि पंडित नेहरू ने देश की रक्षा के लिए इंडियन मिलिट्री एकेडमी, नेशनल डिफेंस अकादमी सैनिक स्कूल जैसी संस्थाए बनाइ।

आर्मी को मजबूत किया। उन्होंने कहा कि ऐसा माहौल बनाना की 2014 के पहले देश सुरक्षित था और अब प्रधानमंत्री मोदी के हाथ में सुरक्षित हो गया देश को गुमराह करना है। उन्होंने 1971 में पाकिस्तान युद्ध की याद दिलाते हुए कहा कि कैसे जांबाज़ भारतीय सेना ने पाकिस्तान के जवानों को कैद कर युद्ध बंदी बनाया था। उन्होंने कहा कि पूरे देश को भारतीय सेना और हमारे जवानों पर गर्व है। मुख्यकमंत्री आज यहां एक निजी चैनल के कार्यक्रम में सवालों के जवाब दे रहे थे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसा माहौल बनाना और इस माहौल से राष्ट्रवाद को जोड़ना जनता को गुमराह करना है। उन्होंने कहा की मोदीजी और भाजपा कांग्रेस और जनता को राष्ट्रवाद नहीं सिखाए। उन्होंने पूछा कि क्या भाजपा के पास कोई स्वतंत्रता संग्राम सेनानी है? कांग्रेस के पूर्वज नेताओं ने स्वतंत्रता की लड़ाई लड़ी। भाजपा में कोई बलिदानी नहीं हुआ है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि मध्यप्रदेश की कांग्रेस की सरकार के 70 दिन, पूर्ववर्ती भाजपा सरकार के 15 साल और मोदी सरकार के 5 साल का हिसाब लोकसभा चुनाव का मुख्य एजेंडा होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार वचन निभाने वाली सरकार है। घोषणाओं और विज्ञापन की सरकार नहीं है। जनता को जो वचन दिया उसे पूरा कर रहे हैं। शुरुआत से अब तक छोटे से अंतराल में जो किया उसका हिसाब देने को तैयार है लेकिन मोदी जी और शिवराज जी भी जनता को हिसाब दें।
महिला सशक्तिकरण पर अपने विचार रखते हुए श्री कमल नाथ ने कहा कि समाज की कमजोरी रही कि महिलाओं को मातहत की भूमिका में रखा गया। आज महिलाएँ आगे आ रही हैं। उन्हें सहयोग देने की जरुरत है। महिलाओं के स्व-सहायता समूह इसका उदाहरण है। इन्हें सहायता देकर आगे बढ़ाने की आवश्यकता है। अब महिला स्व-सहायता समूह आंदोलन बन रहे हैं।

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *