गोरखपुर और फूलपुर लोस में सपा और भभुआ विस उप-चुनाव भाजपा का कब्‍जा

उत्तर प्रदेश में गोरखपुर और फूलपुर लोकसभा सीटों के उप-चुनाव में समाजवादी पार्टी ने दोनों सीटें जीत ली हैं। फूलपुर में पार्टी उम्मीदवार नागेन्द्र सिंह पटेल ने भाजपा के कौशलेन्द्र सिंह पटेल को उनसठ हजार से ज्यादा वोटों से हराया। गोरखपुर में प्रवीण निषाद ने भाजपा के उपेन्द्र शुक्ला को लगभग 22 हजार वोटों से हराकर जीत दर्ज की। बिहार में अररिया लोकसभा उप-चुनाव में राष्ट्रीय जनता दल उम्मीदवार सरफराज आलम विजयी रहे हैं। राज्य में विधानसभा की दो सीटों के लिए हुए उप-चुनाव में भाजपा ने भभुआ और राष्‍ट्रीय जनता दल ने जहानाबाद सीट जीती हैं। उपचुनाव में भाजपा और राजद ने अपनीअपनी सीटें बरकरार रखी हैं। अररीय लोकसभा सीट पर राजद उम्‍मीदवार सरफराज आलम ने अपने निकटतम प्रतिद्वन्‍दी भाजपा के प्रदीप कुमार सिंह को 57 हजार से अधिक मतों से पराजित किया। वहीं जहानाबाद विधानसभा सीट पर भी राजद का कब्‍जा बरकरार रहा । पार्टी उम्‍मीदवार कुमार कृष्‍ण मोहन शुक्‍ल ने जदयु के अभिराम शर्मा को 35 हजार से अधिक वोटों के अंतर से हराया। इधर भभुआ विधानसभा सीट पर भाजपा की रिंकी रानी पाण्‍डेय ने कांग्रेस के सम्‍पत सिंह पटेल को 15 हजार से अधिक वोटों से पराजित किया।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के बीच हुए गठजोड़ ने चुनाव परिणाम को प्रभावित किया है। उन्होंने इस गठबंधन को अप्राकृतिक बताते हुए कहा कि भाजपा नेताओं और पार्टी कार्यकर्ताओं के अति विश्वास ने स्थिति बदल दी। श्री योगी ने कहा कि पार्टी हार की समीक्षा करेगी। जो हमारी सीटें थीं। उन दोनों सीटों पर भारतीय जनता पार्टी के प्रत्‍याशियों का हारना यह समीक्षा का विषय है और कहां कमियां रह गई हैं उन कमियों को दूर करने, उनका परिमार्जन करने और भविष्‍य की बेहतर योजना बनाने के लिए जी जान से लगकर के हम लोग कार्य कर के दिखायेंगे। समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी के समर्थन से दोनों सीटें जीतने में सफल रही। समाजवादी पार्टी नेता अखिलेश यादव ने इन निर्वाचन क्षेत्रों की जनता और बहुजन समाज पार्टी को सहयोग के लिए धन्‍यवाद दिया। गोरखपुर लोकसभा क्षेत्र की जनता का, फूलपुर लोकसभा क्षेत्र की जनता का मैं बहुतबहुत धन्‍यवाद देना चाहता हूं। मैं बहुजन समाज पार्टी की नेता सुश्री मायावती जी का भी बहुतबहुत धन्‍यवाद दूंगा। लोकसभा ने विपक्ष के शोरगुल के बीच बिना चर्चा के ही वित्त विधेयक 2018 और विनियोग विधेयक पारित करते हुए वर्ष 2018-19 के केन्द्रीय बजट पर अपनी मुहर लगा दी है। कांग्रेस के नेतृत्व में विपक्ष द्वारा लगातार आठवें दिन सदन की कार्यवाही ठप्प किए जाने के बाद आज बिना चर्चा के ही बजट पारित किया गया। राज्यसभा की कार्यवाही भी आज बार-बार स्थगन के बाद दोपहर दो बजे को दिनभर के लिए स्थगित कर दी गई। इससे पहले जब सदन की कार्यवाही शुरू हुई तो विपक्ष के हंगामें के बीच ही वित्त विधेयक की एक प्रति सदन के पटल रखी गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *