वाराणसी में विकास परियोजनाओं का शुभारंभ

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि सरकार वाराणसी का विकाससुनिश्चित करने के लिए कड़ी मेहनत कर रही है ताकि इससे पूर्वी भारत के विकास के द्वारखुल सकें। बनारस पूर्वी भारत के गेटवे के तौर पर विकसितकरने का भरसक प्रयास हो रहा है और इसलिए सरकार की प्राथमिकता 21वीं सदी की आवश्यकताके अनुरूप हो, ट्रांसपोर्ट हो, मेडिकलसुविधाएं हो, शिक्षा सुविधाएं हो, सभी काविकास किया जा रहा है। प्रधानमंत्री ने कहा कि केन्‍द्र सरकार बनारस हिन्‍दू विश्‍वविद्यालयको पूर्वी भारत के चिकित्‍सा केन्‍द्र के रूप में विकसित करने जा रही है।

वाराणसी की अपनी यात्रा के दूसरे दिन आज श्री मोदी ने 557 करोड़रूपये की विभिन्‍न विकास परियोजनाओं का उद्घाटन किया और आधारशिला रखी। बनारस हिन्‍दूविश्‍वविद्यालय में उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए मुख्‍य शहर के लिए बाहरी मार्गोंके साथ ही नई सड़कों का निर्माण की जानकारी देते हुए श्री मोदी ने बताया। वाराणसी शहर के भीतर और वाराणसी को दूसरे राज्योंसे जोड़ने वाली सड़कों को चौड़ा किया जा रहा है, उनको विस्तार दिया जा रहा है। वाराणसी, हनुमना यानी नेशनलहाइवे नम्बर सेवन, वाराणसी-सुलतानपुर मार्ग, वाराणसी-गोरखपुर सेक्शन, वाराणसी-हंडिया सड़क संपर्कभी हजारों करोड़ रुपये खर्च किए जा रहे हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि वाराणसी सुंदर हो गया है और अब आसानीसे वहां पहुंचा जा सकता है। प्रधानमंत्री ने कहा कि अगले वर्ष प्रवासी भारतीय दिवसके उद्घाअन अवसर पर सबकी नजरे काशी की ओर होंगी। उन्‍होंने लोगों से अपील की कि वेप्रवासी भारतीयों का अपनी सांस्‍कृतिक विरासत से परिचय कराएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *