पुलिस ड्यूटी के प्रति ही नहीं खेलों में भी अग्रणी: नाथ

ऐतिहासिक झीलों की नगरी भोपाल स्थित बड़े तालाब के जलक्रीड़ा केन्‍द्र (बोट क्‍लब) में गुरूवार को 19वीं अखिल भारतीय पुलिस वाटर स्‍पोर्ट्स प्रतियोगिता शुरू हुई। मुख्‍यमंत्री कमलनाथ ने प्रतियोगिता का उद्घाटन किया। इस अवसर पर उन्‍होंने कहा पुलिस अपनी ड्यूटी के प्रति ही नहीं खेलों में भी अग्रणी है। पुलिस ने खेलों के क्ष्‍ोत्र में भी नाम कमाया है। उन्‍होंने केन्‍द्रीय बलों सहित विभिन्‍न राज्‍यों से आए खिलाडि़यों का स्‍वागत करते हुए कहा हमें भरोसा है कि आप सब मध्‍यप्रदेश की खूबियों से प्रभावित होकर यहाँ आने का दूसरा मौका जरूर खोजेंगे।

मध्‍यप्रदेश पुलिस की मेजबानी में 12 दिसंबर से शुरू हुई यह प्रतियोगिता 16 दिसंबर तक चलेगी। प्रतियोगिता में केन्‍द्रीय बलों सहित 19 राज्‍यों की पुलिस एवं अर्द्धसैनिक बलों की टीमों के344 खिलाड़ी हिस्‍सा ले रहे हैं। इन खिलाडि़यों में अंतर्राष्‍ट्रीय स्‍तर के 50 एवं राष्‍ट्रीय स्‍तर के 220खिलाड़ी शामिल हैं। प्रतियोगिता में शामिल कयाकिंग, केनोईंग व रोईंग की विभिन्‍न 26 स्‍पर्धाओं में दांव पर लगे 180 पदक एवं विजेता व उपविजेता की आधा दर्जन ट्रॉफियों पर कब्‍जा जमाने के लिए खिलाड़ी अपना दम-खम दिखाएँगे।

मुख्‍यमंत्री श्री कमलनाथ ने उद्घाटन समारोह को संबोधित करते हुए कहा पुलिस का जनता से सबसे नजदीकी संबंध होता है और वह प्रशासन का चेहरा होती है। उन्‍होंने कहा विश्‍वव्‍यापी परिवर्तन के दौर में पुलिस की कार्यप्रणाली में भी बदलाव आया है। तकनीक के इस्‍तेमाल की वजह से पुलिस के काम में तेजी आई है। सूचना तकनीक के माध्‍यम से विवेचना का कार्य तेजी से और बेहतर ढ़ंग से होने लगा है। मुख्‍यमंत्री ने इस अवसर पर आह्वान किया नई-नई तकनीकें अपनाकर मध्‍यप्रदेश ही नहीं समूचे देश की पुलिस विश्‍वभर में देश का नाम रोशन करे।

आरंभ में मुख्‍यमंत्री श्री कमलनाथ ने प्रतियोगिता में भाग ले रहीं सभी टीमों के प्रबंधकों से हाथ मिलाकर परिचय प्राप्‍त किया। पुलिस महानिदेशक श्री विजय कुमार सिंह एवं विशेष पुलिस महानिदेशक  एसएएफ श्री विजय यादव ने टीम प्रबंधकों से मुख्‍यमंत्री का परिचय कराया। इसी कड़ी में पुलिस महानिदेशक श्री सिंह के अनुरोध पर मुख्‍यमंत्री ने विधिवत इस प्रतियोगिता के शुभारंभ की घोषणा की। इसी के साथ व्‍ही.एल.पी.से फायर किए गए और आसमान में सतरंगी गुब्‍बारे छोड़े गए। प्रतियोगिता में भाग ले रहीं सभी टीमों के खिलाडि़यों द्वारा खेल भावना के साथ सहभागिता करने की शपथ ली गई।

मध्‍यप्रदेश पुलिस की मेजबानी में पांचवी बार अखिल भारतीय पुलिस वाटर स्‍पोर्ट्सप्रतियोगिता आयोजित हो  रही है। इससे पहले वर्ष 2005, 2007, 2013, व वर्ष 2017 में सफलतापूर्वक मध्‍यप्रदेश पुलिस यह प्रतियोगिता आयोजित कर चुकी है।   

स्‍मारिका का विमोचन भी किया

अखिल भारतीय पुलिस वाटर स्‍पोर्ट्स प्रतियोगिता पर केन्द्रित एक स्‍मारिका भी मध्‍यप्रदेश पुलिस द्वारा प्रकाशित की गई है। मुख्‍यमंत्री श्री कमलनाथ ने उद्घाटन समारोह में इस स्‍मारिका का विमोचन किया। यह स्‍मारिका अतिरिक्‍त पुलिस महानिदेशक श्रीमती अनुराधा शंकर की अध्‍यक्षता में गठित समिति द्वारा तैयार की गई है।

आकर्षक बोट मार्च ने किया रोमांचित

भोपाल के ऐतिहासिक बड़े तालाब में गुरूवार की दोपहर अलग ही खुशनुमा नजारा था। उन्‍नीसवीं अखिल भारतीय पुलिस वाटर स्‍पोर्ट्स प्रतियोगिता के उद्घाटन के समय चल रही सरसराती हवा की वजह से उठ रही ऊँची-ऊँची लहरों के बीच अनुशासन बद्ध ढंग से अठखेलियाँ करते हुए जब आकर्षक वोट मार्च निकला तो खेल प्रेमी वाह-वाह कहने को मजबूर हो गए। पुलिस बैंड द्वारा निकाली जा रही मधुर धुन एवं बड़े तालाब की पृष्‍ठ भूमि में दिखाई दे रहे ऐतिहासिक पुराने भोपाल शहर के नजारे ने वोट मार्च में चार चाँद लगा दिए।  वोटमार्च में अंडमान निकोबार द्वीप समूह, आसाम पुलिस, आसाम रायफल, आंध्रप्रदेश, बीएसएफ, सीआरपीएफ, छत्‍तीसगढ़, आईटीबीपी, जम्‍मू-कश्‍मीर, महाराष्‍ट्र, उड़ीसा,पंजाब, एसएसबी, तमिलनाडु, तेलंगाना, उत्‍तरप्रदेश, उत्‍तराखंड, पश्चिम बंगाल व मध्‍यप्रदेश पुलिस की टीमें शामिल थीं।

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *