पीएनबी अफसरों के खिलाफ धोखाधड़ी के 22 मामले दर्ज

सीबीआइ ने पीएनबी के अफसरों सहित 38 के खिलाफ धोखाधड़ी के 22 मामले दर्ज किए हैं। फर्जी दस्तावेजों के आधार पर जारी किए गए कर्ज से बैंक को 80 करोड़ रुपये से अधिक का नुकसान हुआ है।सीबीआइ के अनुसार यह मामले मध्यप्रदेश में पीएनबी की भोपाल और उज्जैन की चार शखाओं से जुड़े हुए हैं। आरोपियों के विभिन्न् शहरों में स्थित आवास और दफ्तरों समेत कुल 47 स्थानों पर छापे मारे गए हैं। भोपाल, उज्जैन, इंदौर, विदिश, कैथल व गुरुग्राम (हरियाण), होशयारपुर (पंजाब), नोएडा व आगरा (उत्तर प्रदेश), मुंबई (महाराष्ट्र) और दिल्ली में सीबीआइ ने छापे मारे हैं।

सीबीआइ के अनुसार बैंक ने अपनी शकायत में कहा है कि उनके अफसरों ने धोखाधड़ी करके कर्ज मंजूर किए और फिर वर्ष 2011 से 2016 के बीच उन्हें कोयले का कारोबार करने वाले निजी लोगों के नाम पर कर्ज की धनराश्ाि भी अदा कर दी। आरोप है कि यह कर्ज जिन संपत्तियों के एवज में दिया गया वह फर्जी थीं। कर्ज लेने वालों ने बाद में बतौर सुरक्षा राश्ाि जमा की गई रकम भी खुद ही निकाल ली और कर्ज भी नहीं चुकाया। सीबीआइ ने छापों के दौरान फर्जी दस्तावेज, स्टांप, हार्ड डिस्क और बैंक लॉकरों के ब्योरे बरामद किए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *