गौरी लंकेश और कांचा इलैया के पक्ष में विरोध प्रदर्शन

प्रसिद्ध पत्रकार गौरी लंकेश की नृशंस हत्या का एक माह गुज़रने पर भी हत्यारों का कोई सुराग न मिलने और प्रसिद्ध दलित चिंतक कांचा इलैया को दी जा रहीं धमकियों के विरोधस्वरूप पूरे देश में आज प्रदर्शन किये गए। भोपाल में यह प्रदर्शन रोशनपुरा चौराहा पर विभिन्न संगठनों द्वारा साझा रूप से आयोजित किया गया। उक्त प्रदर्शन में बड़ी संख्या में बुद्धिजीवियों, पत्रकारों, विज्ञानकर्मियों, लेखकों, संस्कृतिकर्मियों, छात्रों और युवाओं ने भाग लिया। उल्लेखनीय है कि बंगलोर में हुई पत्रकार गौरी लंकेश की जघन्य हत्या को 1 माह होने को है लेकिन दोषियों के बारे में पुलिस और प्रशासन अभी तक कुछ पता न लगा सके हैं। यह ठीक उसी तरह का लापरवाही वाला रवैया है जो दाभोलकर-पांसारे-कलबुरगी की नृशंस हत्याओं के बाद से सरकारों ने अख़्तियार किया हुआ है। इधर देश और संविधान विरोधी ताकतों द्वारा बुद्धिजीवियों पर हमले और उनको धौंस-धमकियां दिया जाना लगातार जारी है । हाल ही में प्रख्यात दलित चिंतक कांचा इलैया को भी इन उन्मादी ताकतों का शिकार होना पड़ा है। देश में बने इस बौद्धिक विरोध के माहौल और अपसांस्कृतिक ताकतों के ख़िलाफ़ विरोध की आवाज़ों की एकता हेतु इस विरोध हम सब गौरी लंकेश-कांच इलैया नाम से इस प्रदर्शन का आयोजन किया था । इस दौरान प्रख्यात कवि राजेश जोशी, शिक्षविद अनिल सद्गोपाल, जनविज्ञानी आशा मिश्र, महिला नेत्री संध्या शैली नीन शर्मा, समाजकर्मी राजेन्द्र कोठारी, लेखक चित्रकार मनोज कुलकर्णी, प्रलेस के शैलेन्द्र कुमार शैली, भारत ज्ञान विज्ञान समिति के अध्यक्ष प्रो. उदय जैन और श्याम बोहरे व कई और लोगों ने भाग लिया। इस प्रदर्शन को म.प्र.के तमाम अमनपसंद सांस्कृतिक, बौद्धिक, वैज्ञानिक, सामाजिक,धर्मनिरपेक्ष संगठन, राजनैतिक दल, श्रमिक, कर्मचारी, महिला, छात्र, नौजवानों आदि के संगठनो की साझी पहल पर आयोजित किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *