एबीपी सर्वे: एमपी, छत्तीसगढ़, राजस्थान में कायम रहेगा एनडीए का दबदबा

2019 लोकसभा चुनावों की आहट सुनाई आने लगी है. राफेल के मुद्दे पर विपक्ष सरकार को घेरने का कोई मौका छोड़ नहीं रहा है और केंद्र की मोदी सरकार इस समय चौतरफा घिरी हुई है. हालांकि कांग्रेस पार्टी महागठबंधन के जरिए मोदी सरकार को 2019 में पछाड़ने के लिए तैयार होती दिख रही है लेकिन एकता के अभाव में महागठबंधन की सही तस्वीर भी अभी सामने नहीं आई है.ऐसे में अगर आज चुनाव होते हैं तो देश के लोगों का मूड क्या रहेगा और किसको मिलेगी सत्ता की चाबी इसके लिए एबीपी न्यूज़ ने सी वोटर के साथ मिलकर सर्वे किया है.

राजस्थान में किसे मिलेंगी ज्यादा लोकसभा सीटें

राजस्थान
कुल सीट- 25
एनडीए -18
यूपीए- 7

राजस्थान में भी बीजेपी का प्रभुत्व कई सालों से देखा जा रहा है और अगर इस समय यहां लोकसभा चुनाव होते हैं एनडीए के खाते में 18 सीटें जा सकती हैं और यूपीए को 7 सीटें मिल सकती हैं.

छत्तीसगढ़ में किसके हाथ लगेंगी ज्यादा सीटें

छत्तीसगढ़
कुल सीट- 11
एनडीए 9
यूपीए-2

इस समय छत्तीसगढ़ विधानसभा में बीजेपी की सरकार है और इस समय वहां लोकसभा चुनाव होते हैं तो यहां की कुल 11 सीटों में में से एनडीए 9 सीटों पर जीत सकती है और यूपीए को सिर्फ 2 सीटों से संतोष करना पड़ सकता है.

मध्य प्रदेश में क्या रहेगा सियासी समीकरण

मध्य प्रदेश
कुल सीट- 29
एनडीए- 23
यूपीए- 6

बीजेपी के गढ़ मध्य प्रदेश में लोकसभा की कुल 29 सीटे हैं अगर अभी चुनाव होते हैं तो यहां एनडीए को 23 सीटें और यूपीए को 6 सीटें मिल सकती हैं.

बिहार में क्या रहेगा सियासी हाल

बिहार – लोकजनशक्ति पार्टी और आरएलएसपी यूपीए में गई तो ?
कुल सीट- 40
एनडीए- 22
यूपीए- 18

बिहार में लोकसभा की कुल 40 सीटें हैं और यहां लोकजनशक्ति पार्टी और उपेंद्र कुशवाहा की आरएलएसपी यूपीए में गई तो एनडीए के खाते में 22 सीटें जा सकती हैं और यूपीए को कुल 18 सीटें मिल सकती हैं.

बिहार- अगर मौजूदा एनडीए बना रहा तो ?
कुल सीट- 40
एनडीए- 31
यूपीए- 9

बिहार में अगर एनडीए मौजूद स्वरूप में बना रहा तो एनडीए को 31 सीटें मिल सकती हैं और यूपीए के हिस्से कुल 9 सीटें आ सकती हैं.

उत्तर प्रदेश में क्या रहेगा सियासी समीकरण

यूपी- मायावती अकेले लड़ती है तो क्या होगा ?
कुल सीट- 80
मोदी -70
राहुल-2
अन्य- 8

उत्तर प्रदेश में लोकसभा की कुल 80 सीटें हैं और 2014 में बीजेपी ने यहां 73 सीटों के साथ परचम लहराया था. अगर बीएसपी प्रमुख यूपी में मायावती अकेले चुनाव लड़ती है तो यहां कुल 80 सीटों में से बीजेपी के हाथ 70 सीटें लग सकती हैं और राहुल गांधी की कांग्रेस को सिर्फ 2 सीटों से संतोष करना पड़ सकता है. अन्य जिसमें एसपी-बीएसपी पार्टियां शामिल हैं उनके हाथ 8 सीटें लग सकती हैं.

यूपी- एसपी बीएसपी साथ, कांग्रेस अलग तो क्या ?
कुल सीट- 80
बीजेपी -36
कांग्रेस – 2
महागठबंधन-42

सर्वे के मुताबिक अगर यूपीए में एसपी-बीएसपी साथ आते हैं और कांग्रेस अलग जाती है तो बीजेपी के हाथ सिर्फ 36 सीटें लग सकती हैं और कांग्रेस के हाथ 2 सीटें लग सकती हैं. महागठबंधन के हाथों 42 सीटें आ सकती हैं. इस तरह अभी चुनाव हो तो यूपी में बीजेपी को भारी नुकसान हो सकता है क्योंकि 2014 के चुनावों में यहां बीजेपी को 73 सीटें हाथ लगी थीं.

यूपी- कांग्रेस महागठबंधन में शामिल होती है तो ?
कुल सीट- 80
बीजेपी 24
कांग्रेस -56

सर्वे के मुताबिक अगर कांग्रेस यूपी में महागठबंधन में शामिल होती है कुल 80 सीटों में से नरेंद्र मोदी की बीजेपी को सिर्फ 24 सीटों से संतोष करना पड़ सकता है और राहुल गांधी की कांग्रेस 56 सीटों पर कब्जा जमा सकती है.

कैसे हुआ सर्वे?
ये सर्वे अगस्त के आखिरी हफ्ते से लेकर सितंबर के आखिर हफ्ते तक किया गया है. ये सर्वे देश भर में सभी 543 लोकसभा सीटों पर किया गया है और 32 हजार 547 लोगों की राय ली गई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *