उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने अमरीका में भारतीयो से कहा वे अपनी जड़ों को न भूलें

उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने अमरीका में भारतीय समुदाय का अपनी आध्यात्मिक और सांस्‍कृतिक जड़ों को नहीं भूलने तथा नया और उभरता भारत बनाने में सहयोग देने का आह्वान किया है। श्री नायडू कल रात शिकागो में 14 तेलुगू संघों के सदस्यों को संबोधित कर रहे थे। उपराष्‍ट्रपति ने तेलुगू समुदाय से अपनी सफलता में सहायक अपनी मातृ भाषा, पैतृक गांव और मातृ भूमि, अभिभावकों और गुरु को हमेशा याद रखने की अपील की।

अमरीका में बसे 14 तेलगू संगठनों के सदस्यों को संबोधित करते हुए उपराष्ट्रपति ने उन्हें भारत के मूलभूत मूल्य को बरकरार रखने वसुधैव कुटुम्बकम की भावना को मजबूत बनाने की अपील की। आध्यत्मिकता में भारत को विश्व की राजधानी दर्शाते हुए उन्होंने भारत को सबसे प्राचीन जीवित समाज बताया। उपराष्ट्रपति ने पिछली कई सदियों में भारत द्वारा विश्व को दिया गया योगदान को अमूल्य बताते हुए उसमें शून्य के आविष्कार से लेकर योग का भी योगदान होने का उल्लेख किया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *