इण्टरनेशनल स्प्रिचुअल फिल्म फेस्टिवल का आयोजन 19 जनवरी से

संस्कृति विभाग राजधानी में 5 दिवसीय स्प्रिचुअल फिल्म फेस्टिवल का आयोजन कर रहा है। एक साथ तीन सांस्कृतिक स्थलों भारत भवन, मध्यप्रदेश जनजातीय संग्रहालय एवं राज्य संग्रहालय में आयोजित हो रहे इस समारोह में विश्व सिनेमा से ऐसी महत्वपूर्ण फिल्मों को प्राप्त कर प्रदर्शन का अवसर जुटाया गया है जो आध्यात्म केन्द्रित हैं तथा अपने प्रदर्शन काल से लेकर लगातार उनका महत्व रहा है। यह समारोह मध्यप्रदेश शासन द्वारा आयोजित एकात्म यात्रा का सांस्कृतिक आयाम है। संस्कृति विभाग द्वारा आई एस एफ एफ आई कोलकाता के समन्वय से यह आयोजन किया जा रहा है। भोजपुरी साहित्य अकादमी द्वारा समन्वित इस समारोह का शुभारम्भ 19 जनवरी को प्रातः 11 बजे भारत भवन में विख्यात फिल्मकार जी वी अय्यर की फिल्म आदि शंकराचार्य के प्रदर्शन से होगा। इसी दिन वहाँ गौर हरि दास्तान, उप्पिना काकडा आदि फिल्मों के प्रदर्शन भी होंगे तथा परिचर्चा का आयोजन भी किया जायेगा जिसका विषय चेतना जगाता सिनेमा है। इसी दिन राज्य संग्रहालय में भी फिल्म प्रदर्शन एवं कार्यशाला का आयोजन दोपहर 12 बजे से होगा। इसमें फिल्म समीक्षा को लेकर संवाद, मुक्ति भवन, बुद्धा एवं द थिंकिंग बाॅडी फिल्मों के प्रदर्शन होेंगे।
इसी प्रकार 20 जनवरी को भारत भवन में काॅफीन मेकर, डाॅ प्रकाश बाबा आमटे, रेधा व अदामिन्ते माकन अबू फिल्मों का प्रदर्शन प्रातः 10 बजे से होगा। इस दिन सिनेमा में अध्यात्म की धुरि संगीत एवं कला पर चर्चा होगी वहीं जनजातीय संग्रहालय में योग कार्यशाला, इन सर्च आॅफ शंकरा, आउटकास्ट दर हाउस देट केरोल बिल्ट एवं पाथ टू हेप्पीनेस आदि फिल्मों के प्रदर्शन प्रातः 10 बजे से होंगे। 21 जनवरी को भारत भवन में प्रातः 10 बजे से यात्रिक, रस यात्रा, अवेक द लाइफ आॅफ योगानंद आदि फिल्मों के प्रदर्शन के साथ ही परिचर्चा का आयोजन भी किया गया है। इसी दिन जनजातीय संग्रहालय में कार्यशाला के अलावा फिल्म बेक्कू द कैट का प्रदर्शन भी प्रातः 10 बजे से आयोजित है।
22 जनवरी को भारत भवन में प्रातः 10 बजे से कठोपनिषद, सौबाला, खोभ आदि फिल्मों के प्रदर्शन के साथ ही कार्यशाला, उद्बोधन एवं संवाद सत्र आयोजित है। इसी दिन जनजातीय संग्रहालय में प्रातः 10 बजे से फोटोग्राफी कार्यशाला एवं फिल्म बनारस द अनएक्सप्लोर्ड का प्रदर्शन भी किया जायेगा। समारोह के आखिरी दिन भारत भवन में 23 जनवरी को प्रातः 10 बजे से अल्जीरिया ए हृयूमेनिटेरियन एक्सपीडिशन, स्वामी विवेकानंद, समाधि मया द इल्यूजन एवं धुन में ध्यान फिल्मों के प्रदर्शन आयोजित हैं। फेस्टिवल का समापन समारोह भारत भवन में शाम 6 बजे से होगा।
इण्टरनेशनल स्प्रिचुअल फिल्म फेस्टिवल में देश-दुनिया के प्रतिष्ठित फिल्मकारों, सिने विश्लेषकों, पत्रकारों एवं आलोचकों की भागीदारी भी हो रही है जो विभिन्न संवाद एवं परिचर्चा सत्रों में विचार व्यक्त करेंगे एवं वक्ता होंगे। इनमें अनंत नारायण महादेवन, अजीत राय, रत्नोत्तमा सेनगुप्ता, डी आर कार्तिकेय, राजीव मेहरोत्रा, सोमा घोष, अखिलेश, मानसी महाजन, बिन्नी सरीन, यू राधाकृष्णन, टी एस नागभरणा, चन्द्रशेखर तिवारी आदि प्रमुख हैं। इस समारोह को फिल्मकार सुश्री सुमना मुखर्जी क्यूरेट कर रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *