अर्न्तराष्ट्रीय ठगी के कॉल सेन्टर का पर्दाफाश

मध्यप्रदेश सायबर सेल की इंदौर यूनिट ने एक अर्न्तराष्ट्रीय ठगी के कॉल सेन्टर का पर्दाफाश किया है। इसमें करीब 80 युवक-युवती काम करते थे जो मनी लांड्रिंग, ड्रग ट्रैफिकिंग के अवैध धंधों में भी शामिल थे। इनके दो कॉल सेंटर थे जहां से पुलिस ने कार्रवाई कर गिरोह का पर्दाफाश किया है।

बताया जाता है कि कॉल सेंटर में चलाने वालों में ज्यादातर महाराष्ट्र, गुजरात और दिल्ली के हैं। ये लोग अमेरिका के नागरिकों को कॉल करके उनसे उनके सोशल सिक्यूरिटी नंबर का अवैध गतिविधियों जैसे मनी लांड्रिंग और ड्रग ट्रेफिकिंग में इस्तेमाल करते थे। इसी बात पर उन्हें डराकर 50 से लेकर पांच हजार डॉलर तक की वसूली करते थे।
साइबर सेल ने सूचना के आधार पर दो टीमें बनाकर दो ठिकानों पर छापे मारे जहां से 61 लड़के और 19 लड़कियां मिलं। जावेद, राहिल अब्बासी, सन्नी चौहान, शाहरुख, केवल संधू आदि ये कॉल सेंटर चला रहे थे। इनमें से दो सन्नी व शाहरुख का अहमदाबाद जाना भी पाया गया है। इनके कॉल सेंटर से 60 कंप्यूटर, 70 मोबाइल फोन, सर्वर और मैजिकर्जैक जैसे अन्य गजेट मिले हैं। साथ ही पांच से ज्यादा यूएसए के नागरिकों का डाटा भी कंप्यूटर में मिला है जिन्हें जप्त कर लिया है। एक साल से एक कॉल सेंटर जावेद द्वारा चला जा रहा था। पकडे गए अधिकांश युवक एवं युवतियों पूर्व में से कई इस तरह के नोएडा, गोवा और महारष्ट्र के कॉल सेन्टर में काम कर चुके है। इसमें उत्तर पूर्व के नागालेैंड, मेघालय, मुम्बई, अहमदाबाद और पंजाब के रहने वाले युवक युवतियॉ है जो अमेरिका की विजिलेंस एजेन्सी के नाम से धमकाते थे । डायरेक्ट इन्टरनेशनल डायलिंग और मैजिकजैक जैसी तकनीक का उपयोग कर गिफ्ट कार्ड बायर ट्रांसफर, बिटक्वाइन और अमेरिका स्थित खातों में ठकी का पैसा लेते थे ।

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *